जंडियाला नायब तहसीलदार व अन्य स्टाफ की बढ़ी मुश्किलें , मामला गहरी मंडी की फ़र्ज़ी रजिस्ट्री का ।
January 18th, 2024 | Post by :- | 137 Views

जंडियाला नायब तहसीलदार व अन्य स्टाफ की बढ़ी मुश्किलें , मामला गहरी मंडी की फ़र्ज़ी रजिस्ट्री का ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
मनजीत सिंह निवासी गहरी मंडी जिला अमृतसर ने बताया कि उन्होंने जून 2023 में फ़र्ज़ी रजिस्ट्री के मामले में डी सी अमृतसर को अकविन्दर कौर नायब तहसीलदार ,सुखनंदन कौर रीडर ,मौजूदा रीडर नायब तहसीलदार रणधीर सिंह और मुखविंदर सिंह पूर्व रीडर नायब तहसीलदार के खिलाफ फ़र्ज़ी रजिस्ट्री के मामले में शिकायत की थी ।
क्या है यह मामला
कुलदीप सिंह पुत्र अमरजीत सिंह पुत्र अच्छर सिंह निवासी गहरी मंडी का खसरा नंबर 26/11/1(0-2), 103 (0-13 ) रकबा गांव गहरी मंडी का केस सिविल जज जूनियर डिवीजन अमृतसर की अदालत में विचाराधीन था ।जिसका फैसला माननीय अदालत द्वारा कुलदीप सिंह के हक़ में कर दिया गया ।बता दे कि इन खसरा नंबर में हरदीप सिंह ,कुलबीर सिंह ,कुलदीप सिंह की सांझे खाते की मालकी है ।कुलदीप सिंह द्वारा बैनामा रोकने के लिए माल विभाग के अधिकारियों को लिखित शिकायत की हुई थी । लेकिन बावजूद इसके 19 अप्रैल 2022 को इस खसरा नंबर की रजिस्ट्री की गई जिसमे मनजीत सिंह द्वारा दी गई शिकायत को अनदेखा किया गया ।
शिकायतकर्ता मनजीत सिंह का कहना है कि उनकी दुकान जो कि कमर्शियल प्रोपर्टी है और जिसकी पमैयाश 10×23 फ़ीट है ।यह दुकान उनके पिता जोगिंदरपाल सिंह पुत्र मोहन लाल को वर्ष 2003 से अब तक किराए पर दी हुई है।उनके पिता द्वारा दुकान खाली कराने के लिए वर्ष 2016 में केस दायर किया था जिसका फैसला अदालत ने वर्ष 2019 में उनके हक में दिया था ।उनके पिता द्वारा अदालत द्वारा केस हक़ में होने के बाद इस मामले की लिखित जानकारी नायब तहसीलदार जंडियाला गुरु को दी थी जिसमे जिक्र किया गया था कि उक्त खसरे की रजिस्ट्री बिना सूचित किये ना की जाए ।परन्तु नायब तहसीलदार द्वारा बिना सूचित किये हरदीप सिंह ,कुलबीर सिंह पुत्र अमरजीत सिंह जो उसके चाचा हैं के साथ मिलकर अमनदीप सिंह पुत्र जोगिंदरपाल निवासी गहरी मंडी के नाम बैनामा कर दिया है ।
वही इस मामले डी सी अमृतसर घनश्याम थोरी द्वारा इस मामले में 4 सप्ताह भीतर जांच पूरी करने के।आदेश जारी किए हैं ।अब इस मामले में कौन आरोपी है यह जांच पूरी होने के बाद ही पता चल पाएगा ।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review