आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति नियमित रूप से होनी चाहिए प्रधान महासचिव
March 26th, 2020 | Post by :- | 75 Views

भिवानी (हुसैन)हरियाणा स्कूल एजूकेशन विभाग के प्रधान सचिव एवं लॉकडाउन के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा जिला भिवानी में विशेषतौर पर नियुक्त किए गए वरिष्ठ आईएएस अधिकारी महावीर सिंह ने कहा कि लोगों को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति नियमित रूप से होनी चाहिए। लोगों के समक्ष जरूरी वस्तुओं की कमी न रहे।। इसके लिए ट्रांसपोर्ट व्यवस्था भी सही होनी चाहिए।
प्रधान सचिव वीरवार को लघु सचिवालय स्थित डीआरडीए सभागार में अधिकारियों की बैठक में जरूरी निर्देश दे रहे थे। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पंजीकृत मजदूरों को मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा की गई घोषणा के अनुरूप आर्थिक लाभ अतिशीघ्र दिलाना सुश्चिित करें ताकि मजदूरों का गुजर-बसर आसानी से चलता रहे। इसी प्रकार से उन्होंने पात्र व्यक्तियों को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लाभ दिलाना सुनिश्चित करनाने को कहा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक ईकाइयों के संचालकों से मालूम किया जाए कि उनके फैक्ट्रियों में कितने मजूदर काम करते थे और फिलहाल वे कहां और कैसे हैं। यदि उनके समक्ष खाने-पीने की कोई परेशानी है तो उनको तुरंत प्रभाव से दूर किया जाए।
बैठक में प्रधान सचिव ने खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा को निर्देश दिए कि पात्र परिवारों को वितरित किया जाने वाले राशन के वितरण की विशेष कार्य योजना बनाई जाए ताकि राशन का जल्द से जल्द वितरण हो सके। उन्होंने निर्देश दिए मार्च के बकाया राशन के साथ-साथ अप्रैल माह का राशन भी तुरंत प्रभाव वितरित करवाया जाए ताकि गरीब परिवारों के पास कम के कम एक माह राशन उपलब्ध रह सके। उन्होंने निर्देश दिए कि राशन लेने के लिए एक व्यक्ति को राशन की दुकान पर बार-बार न आना पड़े। व्यवस्था ऐसी हो कि गेहूं, चीनी व सरसों तेल एकसाथ ही दिया जा सके। उन्होंने ईंट भळों पर काम करने वाले मजदूरों के लिए भी खाद्य सामग्री मुहैया करवाने को कहा। खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक श्री कालड़ा ने बताया कि जिला में 453 राशन डिपो हैं, जिनके माध्यम से राशन वितरण करवाया जाता है। उन्होंने मार्केट कमेटी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अनाज आदि खाद्य सामग्री की आपूर्ति निर्बाध रूप से हो तथा सब्जी मंडी में दैनिक उपयोगी आलू, प्याज और टमाटर की उपलब्धता सुनिश्चित जाए। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग के साथ तालमेल कर यह भी सुनिश्चित किया जाए कि सामान लाने वाली गाडिय़ों को आने-जाने के दौरान रोका न जाए। उन्होंने कहा कि नागरिकों के साथ-साथ पशुओं के लिए भी समुचित चारे की व्यवस्था हो।
प्रधान सचिव ने सिविल सर्जन डॉ. जितेंद्र काद्यान को निर्देश दिए कि अस्पताल में मास्क आदि की समुचित व्यवस्था हो। बाहर से आने वाले लोगों को समुचित चिकित्सा सुविधा मिले। क्वारंटीन किए गए लोगों पर विशेष निगरानी हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे फल-सब्जी, राशन की दुकानों, सब्जी मंडी आदि का नियमित रूप से निरीक्षण करें ताकि सामान की उपलब्धता का पता चलता रहे। इसके साथ-साथ लोगों तक यह संदेश भी जाना चाहिए कि प्रशासन द्वारा लोगों के लिए सभी प्रकार की आवश्यक वस्तुओं की समुचित व्यवस्था की गई है। लोगों को किसी भी प्रकार से परेशान होने की आवश्यकता है।
इस दौरान उपायुक्त अजय कुमार ने प्रधान सचिव को बताया कि जिला में 40 रिटेलर ने नागरिकों को होम डिलीवरी के लिए अपने नाम दिए हैं। शहर में नागरिकों तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति नियमित रूप से हो रही है और अधिकारियों को नियमित रूप से व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शहर व गांवों में मुनादी करवाकर लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व लॉक डाउन के बारे में जागरूक किया जा रहा है।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक संगीता कालिया ने प्रधान सचिव महावीर सिंह को बताया लॉक डाउन के चलते शहर और जिलाभर में पुलिस नाके लगाए गए हैं ताकि लोग बिना किसी ठोस वजह से आवागमन न करें। नाकों पर पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा शहर में व अन्य कॉलोनियों में पुलिस द्वारा गश्त की जा रही है ताकि लोग घरों ही रहें और कोरोना वायरस संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सके।
इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार, एसीयूटी सचिन गुप्ता आईएएस, एसडीएम महेश कुमार, नगराधीश सुरजीत सिंह, उप पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह, जिला राजस्व अधिकारी प्रमोद चहल, खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक अनिल कालड़ा, पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ. जय सिंह सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।