महाराजा सूरजमल की वीरता और शौर्य को दुनिया ने माना , रंजीत सिंह
February 13th, 2020 | Post by :- | 49 Views

होडल, मधुसूदन,। हरियाणा के। बिजली जेल, नवी एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने महाराजा सूरजमल को नमन करते हुए कहा कि देश के इतिहास में उनका बड़ा नाम है। समाज के अग्रज के रूप में उनकी सोच व संस्कार को जिंदा रखना हम सबका कर्तव्य है। उन्होंने यह बात बुधवार को पलवल की जाट धर्मशाला में महाराजा सूरजमल की 313वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात कही। पलवल जिला में पहुंचने पर विभिन्न सामाजिक संगठनों व पालों द्वारा बिजली मंत्री का पगड़ी बांध कर, फूलमालाओं, शॉल व स्मृति चिन्ह भेंट कर अभिनंदन किया गया।  श्री रणजीत सिंह ने कहा कि महाराजा सूरजमल इतिहास में वीर राजा हुए है और उनके शौर्य का लोहा पूरी दुनिया मानती है। पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. माधवरा सिंधिया व कंवर नटवर सिंह से जुड़े संस्मरणों का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि महाराजा सूरजमल का भारतीय इतिहास में गौरवशाली योगदान रहा है। उन्होंने कार्यक्रम में पहुंचे लोगों से अपील करते हुए कहा कि महाराजा सूरजमल के प्रति हमारी सच्ची श्रद्घांजलि यहीं होगी कि अब हम आने वाली पीढ़ी की शिक्षा पर फोकस करें।बिजली मंत्री ने पलवल के शहीद वीर कान्हा रावत को नमन करते हुए कहा कि इस धरती की मिट्टी को माथे पर लगाकर मैं प्रणाम करता हूं। इस धरती से उनका पुराना लगाव रहा है। उन्होंने युवा पीढ़ी को लेकर कार्यक्रम में उपस्थित जनसमूह से अपील करते हुए कहा कि जिस प्रकार हरियाणा का युवा खेल-कूद व सेना में आगे रहता है। उसी तरीके से अब पढ़ाई-लिखाई पर विशेष फोकस करना चाहिए ताकि हमारे लडक़े-लड़कियां देश की प्रमुख सेवाओं में बढ़-चढ़ कर उच्च पदों पर आगे आए।उन्होंने महाराजा सूरजमल की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के सफल आयोजन को लेकर आयोजकों को बधाई देते हुए जाट धर्मशाला के लिए अपनी एच्छिक निधि से 11 लाख रुपए की वित्तीय सहायता देने की भी घोषणा की। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजकों की ओर से पलवल के आगरा चौक पर महाराजा सूरजमल के नाम पर स्वागत द्वार, पलवल-अलावलपुर मार्ग का नामकरण पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चरण सिंह के नाम पर करने तथा जिला सचिवालय में शहीद कान्हा रावत की प्रतिमा लगवाने की मांगों पर सहानुभूतिकपूर्वक विचार करने तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल से मंजूर कराने का भरोसा भी दिया।इस अवसर पर पूर्व विधायक भगवान सहाय रावत, केहर सिंह रावत, रघुवीर सिंह तेवतिया, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी के पुत्र नरदेव चौधरी, जाट विकास समिति के अध्यक्ष मोहन लाल तंवर, प्रेम सिंह दलाल, ब्लाक समिति के पूर्व चेयरमैन समुंद्र सिंह, मंच संचालक हरिचंद शास्त्री, सूरजमल फाउंडेशन के अध्यक्ष धर्मवीर सिंह तेवतिया, जाट धर्मशाला की नींव रखने वाले खजान सिंह, शशिबाला तेवतिया, अरूण जैलदार, संजय खट्टर, दिनेश डागर, जगदीश, राजबीर, मोहन लाल डागर, सतबीर डागर, महेंद्र सिंह चौहान, गिर्राज सिंह पीटीआई, गुलजारी लाल, प्रवीण डूडी, योगेंद्र सहरावत सहित विभिन्न पालों के प्रमुख व अनेक गांवों के पंच-सरपंच उपस्थित रहें। वहीं प्रशासन की ओर से तहसीलदार रोहताश, सीएमओ डा. ब्रह्मजीत संधू, दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम से एसई एसएस सांगवान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहें।