खरीद एजेंसियों के बदलाव के कारण राईस मिलर्स हुए परेशान, जिला उपायुक्त के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन
October 11th, 2019 | Post by :- | 13 Views
होडल,  (मधुसूदन भारद्वाज): सरकार द्वारा मंडी में धान की फसल की आवक के दौरान खरीद एजेंसियों को बदलने के मामले को लेकर राईस मिलर्स एवं अनाज मंडी के आढतियों में रोष व्याप्त है। जिसको लेकर राईस मिल एसोसिएशन के प्रधान नरेश कुमार सौरोत के नेतृत्व में दर्जनों आढतियों एवं राईस मिल मालिकों ने जिला उपायुक्त के नाम तहसीलदार गुरुदेव सिह धनेरवाल को ज्ञापन सौंपा है। तहसीलदार को सौँपे गए ज्ञापन में प्रधान नरेश कुमार सौरोत,शिवकुमार परदेशी, नवीन, अनिल मित्तल, समय दलाल, दिनेश, सतपाल पहलवान, लक्की, उमेश, नवीन कत्याल आदि ने बताया कि   धान खरीद के लिए प्रदेश सरकार द्वारा तीन खरीद एजेंसियों को नियुक्त किया गया था। क्षेत्र की 30 राईस मिलों ने एजेन्सीयों से अनुबंध के तहत दस लाख रुपए की राशी भी जमा कराई जा चुकी है। ज्ञापन में बताया कि सरकारी खरीद एजेंसियां पहले ही धान की खरीद कर चुकी है। उन्होंंने बताया कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के नये आदेशानुसार सरकारी खरीद के 6 दिन हैफेड एजेंसी को दे दिये गये हंै जिसके कारण उन्हें परेशानियों का सामना करना पड रहा है।  उन्होंने बताया कि जिन राईस मिलर्स का हैफेड को छोडकर दूसरी एजेंसियों के साथ एग्रीमैंट हो चुका है और धान एलाट हो चुका है लेकिन  सरकार की पोलिसी के तहत उनको अब और धान एलाट नही हो सकेगा। उन्होंने बताया कि अब राईस मिलर्स आवश्यक कागजी कार्रवाई व धरोहर राशि का इंतजाम करने में असमर्थ हैं, क्योकि सभी मिलर्स पहले ही सम्बंधित एजेंसी को धरोहर राशि जमा करा चुके हैं। अनाज मंडी में धान की आवक जोरों पर है। राईस मिलर्स ने जिला उपायुक्त से मांग की है कि पहले की तरह ही धान खरीद के लिए तीनों ऐजंसियों को बरकरार रखा जाए ताकि उन्हें परेशानियों का सामना ना करना पडे। ज्ञापन लेने के बाद तहसीलदार धनेरवाल ने राईस मिलर्स को आश्वासन दिया कि उनके मांग पत्र को तुरंत जिला उपायुक्त को भेजा जाएगा।