केजरीवाल ने कहा- डॉक्टर-नर्सों और पायलटों को घरों से निकाल रहे लोग; शाह ने ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए
March 24th, 2020 | Post by :- | 76 Views

कोरोनावायरस का संक्रमण देश में बढ़ता जा रहा है। संक्रमण के मामलों की संख्या 550 के पार पहुंच रही है। डॉक्टर-नर्सें लगातार मरीजों के उपचार में लगे हैं। इन्हें हीरोज का दर्जा दिया जा रहा है। लेकिन, देश के कई इलाकों में ऐसी भी घटनाएं सामने आ रही हैं, जहां डॉक्टरों, नर्सों, पायलटों और एयरहोस्टेस को कॉलोनीवाले और मकान मालिक घर में नहीं घुसने दे रहे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि इन घटनाओं को रोका जाए। केजरीवाल की इस अपील के थोड़ी ही देर बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसे लोगों पर सख्त एक्शन लिया जाए।

हमें अपनी मानसिकता बदलनी चाहिए- केजरीवाल

केजरीवाल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दिल्लीवासियों से बात की और इसी दौरान नरेंद्र मोदी ने अपील की। उन्होंने कहा- हमने अपने डॉक्टरों, नर्सों और अन्य स्टाफ के लिए तालियां बजाईं। लेकिन, अब मुझे जानकारी मिल रही है कि मकानमालिक इन लोगों को घरों से जबरदस्ती निकाल रहे हैं, क्योंकि इन लोगों कोरोना के मरीजों का इलाज किया है। कुछ लोग अपनी कॉलोनियों में पायलटों और एयर होस्टेस को नहीं घुसने दे रहे हैं, क्योंकि ये लोग देश-विदेश में यात्राएं करके लौटे हैं। इन लोगों बिना थके हुए हम लोगों के लिए काम किया है और हमें अपनी मानसिकता बदलनी चाहिए।

शाह ने कहा- डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित हो

अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की। शाह ने कहा कि डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित करें और इनके साथ बुरा बर्ताव करने वालों पर सख्त एक्शन लिया जाए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा- दिल्ली, नोएडा, वारंगल, चेन्नई आदि जगहों से इस तरह की घटनाओं की सूचना मिल रही है। इन सबको सुनकर मैं बहुत दुखी हूं। लोग इन्फेक्शन के डर से डॉक्टरों-नर्सों को धमका रहे हैं। कृपया परेशान ना हों।

डॉक्टरों की अपील- मोदीजी हमारी समस्याएं दूर करने के लिए कदम उठाएं
दिल्ली के एक डॉक्टर ने कहा कि लॉकडाउन के चलते हमें ठहरने और खाने की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस हमारे मेस में काम करने वाले वर्करों को रोक रही है। ये लोग हमारे लिए बाहर से खाना ला रहे हैं। एक अन्य ने कहा कि जो डॉक्टर किराये पर रह रहे हैं, उन्हें घर खाली करने के लिए कहा जा रहा है। लोगों को लग रहा है कि हमसे ही संक्रमण फैल जाएगा। डॉक्टरों ने कहा कि हम प्रधानमंत्री से अपील करते हैं कि हमारी समस्याओं को दूर करने के लिए कदम उठाएं।