इंदौरा : गरीबी ओर बदहाली में जीने को मजबूर सर्वणा
October 9th, 2019 | Post by :- | 213 Views

डमटाल (मुकेश सरमाल )   :       उपमंडल इंदौरा के अंतर्गत आती पंचायत मंदौली गांव झिकला बाशा की सर्वणा देवी घने जंगल में गरीबी ओर वेबसी का जीवन जीने को मजबूर हैै । सर्वणा देवी के पास रहने के लिए सर ढ़कने के लिए छत तक नहीं हैं।बस एक छोटी झोपड़ी है जिसमे रह कर बेचारी अपनी जिन्दगी की गुजरबसर कर रही हेै।

पीड़ित सर्वणा देवी ने बताया हमारा हंसता खेलता परिवार था लेकिन सभी की मृत्यु होने के कारण आज मैं धर धर की ठोकरें खाने को मजबूर हूं। हमारे घर के पास अनेक घर थे लेकिऩ रास्ता होने के कारण सभी जहां से पलायन कर सड़क किनारे चले गए लेकिन गरीबी ओर परिवार में किसी के ना होने कारण मै यहि रह गई ।

बता दें। सर्वणा देवी पति (सुभाषचन्द )दो वेटे( रिकूं अोर शाम लाल ) ओर एक वेटी( तृप्ता देवी) थी लेकिन पति अोर दोनो वेटो की मृत्यु के पश्चात सर्वणा देवी के ऊपर तो दुखों का पहाड़ टूट गया एक कच्चा स्लेट पोश मकान था जो बरसात में धरासायी हो गया सरकार से उसको ठीक करने के लिए छः हजार की मदद की तब ये झोपड़ा सर्वणा देवी ने बनाई ।बाकी सरकार की किसी भी योजना का लाभ इस बर्जुग महिला को नहीं मिला। जो योजनाए सरकारे विज्ञापनो में जोरो शोरो से जनता को सपने की तरह दिखाई जाती है ऐसी कोई भी योजना इस बर्जुग महिला को नहीं मिली हैं पीड़ीत सर्वणा देवी ने भावूक होकर बताया चूनावो के समय सभी को घर दिख जाता है ओर जितने के वाद कोई नही आता

चूनावो में रातों को सोने तक नही देते पैर पकडते है काम हो जाएगा साथ खाना खाते है बाद में गरीब की कोई नहीं सुनता

|सर्वणा देवी का बड़ा वेटा(रिंकू ) ट्रक ड्राइवर था । दुर्घटना में उसकी एक टांग कट गई । पैसे के आभाब में सही इलाज ना मिल पाने की चिंता के कारण पिता (सुभाष चन्द्र) की हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गई।

जिसके एक साल उपरांत छोटे वेटे (शामलाल)की सांप के काटने के कारण मृत्यु हो गई जोकि मजदूरी करके परिवार ओर बड़े भाई की विमारी का खर्च उठा रहा था । उसके बाद परिवार की जिम्मेदारी वड़े बेटे के कंधो पर आ गई ओर वह एक टागं के सहारे फिर से ट्रक चलाने लगा जैसे तैसे करके उसने अपनी बहन की शादी की लेकिन अपनी विमारी की दवाई पर ध्यान नहीं दिया । जिसके कारण उसके शरीर में इंफेक्शन हो गई पैसे के अभाव के कारण इलाज ना मिल पाने के कारण वो भी काल का ग्रास बन गया।
———–
सरकार की एक भी योजना नहीं मिली गरीब परिबार को
लकड़ी चूल्हा जलाकर बनाती खाना ,सर्वणा देवी का कहना अमीरो को मिलती सब योजनाए गरीब की कौन सुनता है सबको गैस मिली पर मुझे नहीं ना ही शौचालय योजना ।।थोडे दिन पहले ही डाला गरीब का BPL में कार्ड अभी तक एक बार भी नहीं मिला राशन
————
पंयायत प्रधान ज्योती देवी व उपप्रधान जरम सिहं का कहना है प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत इसका प्राथमिकता के आधार पर ग्राण्ट के लिए मकान डाला गया है । लेकिन सरकार पैसे भेजे तो ही पंचायत दे सकती है घर।
———
उच्चदण्डाअधिकारी गौरभ महाजन
मामल संज्ञान में लाया गया है अोर मामले की अधिकारीक जांच कराई जाएगी अोर परिवार को जो संभव सहायता होगी दी जाएगी।