आगामी 21 अक्तूबर को होने वाले चुनावों के लिये चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित नियमों की पालना जरूरी–मतदान के दौरान गोपनीयता रखना अति आवश्यक:-जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा
October 11th, 2019 | Post by :- | 4 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) शांतिपूर्वक और निष्पक्ष तरीके से विधानसभा चुनाव करवाने के लिये सभी माइक्रो आब्जर्वर अपने-अपने क्षेत्र पर पूरी नजर रखें। सभी मतदान केन्द्रों में बिजली, पेयजल, शौचालय के साथ-साथ दिव्यांगो के लिये बनाये गये रैम्पों का निरीक्षण करें और यदि कहीं कोई कमी पाई जाती है तो उसे बिना किसी देरी के ठीक करवायें। यह बात सामान्य आब्जर्वर अक्षय सूद ने स्थानीय पुलिस ऑडिटोरियम में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित की गई माइक्रो आब्जर्वर की कार्यशाला में उन्हें सम्बोधित करते हुए और चुनाव आयोग के निर्देशों की जानकारी देते हुए कही। अक्षय सूद ने कहा कि लोकतंत्र में मतदान एक पर्व की तरह होता है, इसमें डयूटी लगना भी हम सबके लिये हमारी पारदर्शी व्यवस्था को दर्शाता है। इसलिए जरूरत इस बात की है कि सभी माइक्रो आब्जर्वर अपने-अपने बूथों या लोकेशनों में तैयारियों की व्यवस्था जांचे। पीठासीन अधिकारियों और सहायक पीठासीन अधिकारियों का सहयोग और मार्गदर्शन करें। उन्होंने यह भी कहा कि मतदान केन्द्र के अंदर डयूटी पर तैनात कर्मचारियों, अधिकारियों और एजेंटों के अलावा कोई अनाधिकृत न आने पाए, इसकी व्यवस्था की जानी लाजमी है।
इस मौके पर उपस्थित जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि माइक्रो आब्जर्वर पोलिंग पार्टियों के साथ जाएं और उनके साथ ही आना सुनिश्चित करें और जहां से चुनाव सामग्री ली गई है, वहीं सम्बन्धित आर.ओ. के पास जमा करवायें। बैल्ट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट की व्यवस्था सही हो, इस पर भी पूरी तरह से नजर रखी जानी जरूरी है। जिस लोकेशन पर माइक्रो आब्जर्वर की डयूटी लगी है, वहां पर पूरी व्यवस्था चाक-चौबंद होनी चाहिये। सुरक्षा बलों के साथ पूरा तालमेल रखें। ध्यान में रहे की सुरक्षा बल का कोई कर्मचारी जब तक जरूरत न पड़ें, अंदर न आए, यह व्यवस्था भी कायम रखनी है। सभी प्रकार की सूचनाएं सैक्टर ऑफिसर को दी जाएं। इलेक्सन डयूटी सर्टिफिकेट भी सम्बन्धित को दिया जाना भी लाजमी है। 
उन्होंने जानकारी के क्रम में आगे कहा कि मतदान वाले दिन प्रात: 6 बजे मौक पोल करवाना बहुत जरूरी है। मौके पोल के लिये किसी की इंतजार नही करनी और नियमानुसार प्रात: 6 बजे मौक पोल शुरू कर देना है। इसके साथ-साथ नियमानुसार इसे क्लीयर भी अवश्य करें। सभी माइक्रो आब्जर्वर अपनी-अपनी लोकेशन के तहत स्थापित मतदान केन्द्रों पर निरंतर चैकिंग करते रहें, आते-जाते रहें। उन्होंने यह भी कहा कि पोलिंग एजेंटों को प्रवेश पास देना जरूरी है, अनाधिकृत कोई भी व्यक्ति मतदान केन्द्र के अंदर नही आना चाहिए। उन्होंने स्पष्टï कहा कि  मतदान की गोपनीयता रखना बहुत जरूरी है, इस विषय को लेकर पूरी गंभीरता के साथ कार्य करना है। उन्होंने यह भी कहा कि वोटिंग के बाद वीवीपैट की बैटरी को अलग कर देना है लेकिन ईवीएम की बैटरी नही निकालनी है। उन्होंने माइक्रो आब्जर्वरों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि आपने कईं चुनाव करवाये हैं और जो नये आए हैं, उनको भी यह बताने की जरूरत है बिना किसी तनाव के चुनाव को शांतिपूर्वक सम्पन्न करवायें। उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव आयोग द्वारा जो नई सूचनाएं आ रही है, वो तुरंत उपलब्ध करवाई जा रही है ताकि शांतिपूर्वक चुनाव सम्पन्न करवाने में मदद मिलती रहे। इस अवसर पर वीवीपैट, ईवीएम और कंट्रोल यूनिट की वीडियो के माध्यम से रिहर्सल भी करवाई गई। डयूटी पर तैनात कर्मचारी और अधिकारी अपना वोट डालने के लिये फार्म नम्बर 12 और 12ए का प्रयोग करें। इस मौके पर एडीसी जगदीप ढांडा, आरओ अम्बाला शहर गौरी मिड्ढïा, नगराधीश कपिल कुमार शर्मा, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, चुनाव तहसीलदार आंचल सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।