FB_IMG_1573377174453
November 10th, 2019 | Post by :- | 2 Views
FB_IMG_1573377174453

सतीश खतरी (सिवानी मंडी) पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता किरण चौधरी ने कहा कि आज हरियाणा में कमजोर व मौकापरस्त सरकार के काबिज होने के कारण कानून व्यवस्था का दिवाला निकल गया है। उस पर बेरोजगारी आग में घी का काम कर रही है।
आज अपने निवास स्थान पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्रीमती चौधरी ने कहा कि आज हरियाणा में भाजपा सरकार की नाकामी से गुंडा राज है और अब गठबंधन सरकार में तो केवल लूट ही होगी। उन्होने कहा कि आज गुंडे लोग बेरोजगारों का गलत फायदा उठा रहे हैं। उन्होने गठबंधन सरकार को दो अलग-अलग विचारधाराओं का गठबंधन बताया और कहा कि ये गठबंधन सत्ता सुख के लिए हुआ है। प्रदेश की जनता ने भाजपा के खिलाफ मत किया था और जजपा को भी इसलिए सीटें मिली हैं, लेकिन भाजपा व जजपा ने अपने-अपने फायदे को देखते हुए जनता के हितों की बली चढ़ाकर सरकार बनाने का फैसला लिया।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक रचनात्मक पक्ष क ी भूमिका में रहेगी और चाहेगी कि वर्तमान भाजपा-जजपा सरकार अपना कार्यकाल पूरा करे ताकि जनता को भी इनकी असलीयत पता चले। उन्होंने यह भी कहा कि हालात ये है कि यह गठबंधन ज्यादा समय चलने वाला नहीं है।
उन्होने कहा कि आज जगह-जगह लूट हो रही है। व्यापारियों को डराया जा रहा है। उन्होने कहा कि ये सब भाजपा सरकार की पांच साल की नाकामी और बेरोजगारी बढाने के चलते हो रहा है। उन्होने कहा कि बेरोजगारी के चलते युवा असामाजिक कार्य करते हैं और गुंडे उसका गलत फायदा उठाते हैं। उन्होने कहा कि आज प्रदेश में गुंडा राज है।
किसानों के मुद्दों पर बोलते हुए किरण चौधरी ने कहा कि कहने को भाजपा सरकार 2022 तक किसानों के आय दोगुणी करने की बात कहती है, लेकिन मंडियों में किसानों की फसलें समर्थन मूल्य पर ना तो खरीदी जाती और ना बिक पा रही है। उन्होने कहा कि आरोप लगाया जाता है कि किसान पराली जलाते हैं तो वायु प्रदूषण होता है जबकि पराली से नामात्र का प्रदूषण होता है। उन्होने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए हैं कि किसानों को प्रति क्विंटल पराली प्रबंधन के लिए 100 रुपये दिए जाएं। सरकार इन निर्देशों की पालना करे। उन्होंने कहा कि पहली बार हो रहा है कि किसानों के उपकरणों पर जीएसटी लगा दी।
कुछ रोज पहले लोहारू से भाजपा विधायक द्वाराकर्मचारियों को धमकाने पर बोलते हुए किरण चौधरी ने कहा कि ये 75 पार जैसा अंहकार है। पर राजा और रंक का मत एक समान होता है। जनता सब जानती है और दूध का दूध और पानी का पानी करती है। इसके साथ ही उन्होने कर्मचारियों की रिटार्यमेंट 55 साल करने को गलत बताया और अयोध्या मामले पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसला का स्वागत किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।