लॉकडाउन के दौरान रोजमर्रा व जरूरत की वस्तुओं के दाम हुए डबल। लोगों को करना पड़ रहा है परेशानियों का सामना।
March 25th, 2020 | Post by :- | 39 Views

कालका-चन्दरकान्त शर्मा। जिला प्रशासन द्वारा दिये गए आश्वासन जिसमें कहा गया है कि सब्ज़ी, सामान्य किरयाना आदि में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी, बावजूद इसके कालका शहर में रोजमर्रा व जरूरत की वस्तुओं के दाम आसमान को छूने लग गए हैं। जिस कारण आम जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ज्योति ब्रिगेड वेलफेयर सोसायटी की प्रधान सुमन शर्मा ने बताया कि कालका शहर में जो कभी सब्जी कम दाम पर मिलती थी आज वही सब्जी दोगुनी दाम पर मिल रही है जिस कारण आम जनता परेशान है। शर्मा का कहना है कि जो आलू पहले 20 रू किलो थे अब वो 40 रू में मिल रहे हैं, वहीं गोभी 60रू, प्याज 60 से 80रू, टमाटर 80रू यानी कि दोगुने दाम पर मिल रहे हैं। एक तरफ तो सरकार का 21 दिन का भारत बंद का ऐलान तो दुसरी वो जनता जिनका घर दिहाड़ी पर चलता है, ऐसे में सब्जियों के दोगुना दाम को बढ़ता देख आम जनता को काफी परेशानी हो रही है। जब उनसे बढ़ते दाम के बारे पूछते हैं तो उनका रटारटाया जवाब होता है कि पीछे से नहीं आ रहा है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि अभी तो शुरुआत है आगे के दिनों में क्या हाल होगा।

उधर भारतीय महिला अधिकार सुरक्षा परिषद् की अध्यक्षा संगीता चौधरी का कहना है कि कल रात देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के भाषण उपरांत वह करियाना की दुकान पर समान लेने गई तो दुकानदार ने काफी वस्तुओं के दाम एमआरपी से ज्यादा वसूल किए। शहर के ज्यादातर लोगों का कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा मास्क का रेट 10 रुपये तय करने के बावजूद केमिस्ट्स शॉप पर मास्क 50 रुपये का मिल रहा है। सरेआम कालाबाजारी हो रही है, प्रशासन खामोश है। लोगों का यह भी कहना है कि आम जनता की समस्याओं के निवारण के लिए जिला प्रशासन द्वारा दिया गया कंट्रोल रूम नंम्बर 0172-259000 लगता ही नहीं है। उनका कहना है कि जब नंम्बर मिलाते हैं तो जवाब मिलता है “यह नंम्बर अमाननिय है, कृप्या डायल किये गए नंम्बर को जांच लें”। लोगों की प्रशासन से अपील है कि आम जनता को पेश आ रही समस्याओं पर सरकार शीघ्र ध्यान दे।