प्रतिपदा
March 15th, 2020 | Post by :- | 27 Views

प्रतिपदा प्रतिपदा प्रथम तिथि है। हिन्दू पंचांग की प्रथम तिथि कही जाती है। यह तिथि मास में दो बार आती है- ‘पूर्णिमा’ के पश्चात् और ‘अमावस्या’ के पश्चात।

  • पूर्णिमा के पश्चात् आने वाली प्रतिपदा को “कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा” और अमावस्या के पश्चात् आने वाली प्रतिपदा को “शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा” कहा जाता है।
  • प्रतिपदा का शाब्दिक अर्थ ‘मार्ग’ होता है। आरम्भ, प्रवेश या प्रयाण भी इससे चिंहित होता है।
  • ‘प्रति’ का अर्थ है- ‘सामने’ और ‘पदा’ का अर्थ है- ‘पग बढ़ाना’।
  • कृष्ण प्रतिपदा में चन्द्र अपने ह्रास की ओर पग रखता है।
  • प्रतिपदा के स्वामी अग्निदेव हैं।