*पैसे लेकर डिग्री बांटने वाले कॉलेजों पर लगेगा ताला*
November 22nd, 2017 | Post by :- | 1 Views

नई दिल्ली, ( लोकहीत एक्सप्रैस )  ।  उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने में जुटी सरकार ने फिलहाल तय मानकों को पूरा न करने वाले कॉलेजों पर ताला लगाने का फैसला लिया है। मानव संसाधन विकास मंत्रलय ने इसे लेकर देश भर के सभी कॉलेजों की जांच के निर्देश दिए है। मंत्रलय के पास हालांकि पहले से ही तय मानकों को पूरा किए बगैर संचालित हो रहे ऐसे कॉलेजों को लेकर ढेरों शिकायत लंबित हैं। इनमें ज्यादातर ऐसे मामले हैं जिनमें राज्य सरकारों की ओर से कोई जवाब ही नहीं दिया गया।

मंत्रलय ने हाल ही में इन शिकायतों के आधार पर कॉलेजों की जांच शुरू की, तो और भी कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई। हजारों ऐसे कॉलेज हैं, जहां पर्याप्त शिक्षक तो दूर छात्रों के बैठने के लिए कमरे भी नहीं हैं। देश में मौजूदा समय में वैसे भी करीब 40 हजार कॉलेज संचालित हो रहे हैं। इनमें सबसे अधिक कॉलेज उत्तर प्रदेश में हैं। इसके अलावा भी जिन राज्यों में सबसे अधिक कॉलेज हैं, उनमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश शामिल हैं। इनमें 75 फीसद कॉलेजों का संचालन निजी प्रबंधन के हाथों में है।

1400 बीएड कॉलेजों को बंद करने की सिफारिश

एनसीटीई (नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन) ने तय मानकों के तहत संचालित न होने वाले देश भर के करीब 400 बीएड कॉलेजों को बंद करने की सिफारिश की है। जांच टीम ने अपने निरीक्षण में ऐसे स्कूलों की वीडियोग्राफी भी कराई है।एक तरह की दुकानों में तब्दील हो गए उच्च शिक्षा संस्थानों के खिलाफ सख्ती की ही जानी चाहिए, लेकिन बेहतर होगा कि उन्हें बंद करने के साथ ही सुधारने पर भी ध्यान दिया जाए। यह तब संभव होगा जब गड़बड़ी करने वाले शिक्षा संस्थानों को जवाबदेह बनाने के साथ उनकी सतत निगरानी की कोई ठोस व्यवस्था बनेगी। अभी ऐसा कोई सक्षम तंत्र न राज्यों के स्तर पर दिखता है और न ही केंद्र के स्तर पर जो छल कर रहे निजी शिक्षा संस्थानों की नकेल कस सके। यदि तमाम उच्च शिक्षा संस्थान बिना मानकों के चल रहे हैं तो इसका अर्थ है कि उनकी उस तंत्र से घालमेल है जिन पर मानक लागू कराने की जिम्मेदारी है। आखिर ऐसे संस्थान खुल ही कैसे गए जो मानक पूरा नहीं करते?4देश भर के सभी कॉलेजों की होगी जांच, मंत्रलय ने दिए निर्देश 14खराब गुणवत्ता और मानक पूरे न करने की शिकायतों पर उठाया कदमउच्च शिक्षा की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होगा। हमने देश भर के सभी कालेजों की जांच कराने के निर्देश दिए है। तय मानकों पर खरे न उतरने वाले कॉलेजों पर ताला लगेगा। हाल ही में हमने करीब 400 बीएड कॉलेजों को तय मानकों पर खरे न पाए जाने पर बंद करने की प्रक्रिया शुरू की है- डॉ. सत्यपाल सिंह, केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री।