सरकार का सपना किसान की आय हो एक लाख प्रति एकड़:धनखड़

कुरुक्षेत्र,लोकहित एक्सप्रैस,(शिवचरण राणा) । हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि प्रदेश के एक-एक किसान की आय प्रति एकड़ एक लाख रुपए पहुंचाना राज्य सरकार का सपना हैं। इस सपने को पूरा करने के लिए दुध का उत्पादन बढ़ाकर देश का प्रथम स्थान का राज्य बनाने, दिल्ली के 26 हजार करोड़ के बाजार पर प्रदेश के किसानों की खाद्य सामाग्री पहुंचाकर कब्जा करने जैसी अनेक योजनाओं को अमलीजामा पहनाऐगी।
# कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ बुधवार को कुरुक्षेत्र की नई अनाज मंडी में किसान जमावड़ा कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसानों और खेती के लिए सरकार ने ठोस योजनाएं लागू की है। किसान को जोखिम फ्री बनाने के अलावा बागवानी, पैरी अर्बन एग्रीकल्चर, हर खेत को पानी, जैविक खेती सहित अनेक योजनाओं से किसान आधुनिक खेती के साथ आगे बढ़ रहा है। किसान की आय 2022 तक दौगुनी करने के लिए किसानों को हम मार्किट के साथ भी जोडक़र सरकार ने जोखिम फ्री बनाया है। हरियाणा देश का पहला राज्य है जिसका किसान या तो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कवर है या फिर 12 हजार प्रति एकड़ की मुआवजा योजना में कवर है। उन्होंने किसान जमावड़ा कार्यक्रम में पहुंचे हजारों किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि अपने आप को किसानों का हितैषी कहने वाले भूपेंद्र सिंह हुड्डा स्वामीनाथन रिपोर्ट सहित अन्य सुविधाएं देने की बात कहते रहे जबकि राज्य सरकार ने किसानों के लिए वास्तव में इसे करके दिखाया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार हर खेत को पानी देने के संकल्प को पूरा करने में जुटी है। उन्होंने ने कहा कि देश में हरियाणा पहला ऐसा राज्य है जिसका किसान पूरी तरह से जोखिम फ्री हैं।
मंत्री ने कहा कि किसान के चेहरे की ख़ुशी बनी रहे इसलिए प्रदेश सरकार उनकी आमदनी को बढ़ाने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है। इसके लिए पैरी अर्बन एग्रीकल्चर को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के तीन तरफ दिल्ली है। हमारे किसान 2 से 3 घंटे में अपने ताजा उत्पाद दिल्ली के हर घर तक पहुंचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक औसत के अनुसार दिल्ली की चार करोड़ की आबादी सालाना 36 हजार करोड़ रूपये सामान्य किसानों के उत्पादों पर खर्च करती है। इस लिहाज से हमारा 26 हजार करोड़ रूपया प्रति साल किसानों के पास आना चाहिए। इसके लिए किसान अपने फल, फूल, सब्जी, दूध, पोल्ट्री उत्पाद, मछली जैसे उत्पाद सीधे बिक्री करने लगे हैं। इससे किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के अलावा अन्य बड़े सपने के हम देख रहे हैं । हम ऐसी व्यवस्था करना चाहते है कि किसानों को प्रति एकड़ प्रति वर्ष एक लाख की आय हो।
# उन्होंने कहा कि हरियाणा में 340 बागवानी गांव बना रहे हैं । कुल 517 करोड़ की लागत वाले इस प्रोजेक्ट में किसानों के उत्पाद एक स्थान पर लाने के लिए 140 क्लस्टर बना रहे हैं। प्रदेश की खेती योग्य भूमि में से एक चौथाई भूमि को बागवानी पर ले जाना चाहते हैं। आर्गेनिक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि जलभराव वाली भूमि पर हम मछली पालन करके किसानों को लाभ देने की योजना पर काम कर रहे हैं। फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को 230 करोड़ का मुआवजा दिया गया है। इसके अलावा किसानों को 1095 करोड़ गेंहू और 995 करोड़ कपास की फसल के खराब होने पर भी मुआवजे के रुप में दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा अपने समय की रिपोर्ट को अपने राज्य में लागू नहीं कर पाए। वे किसानों के लिए बेहतर करने का राग ही अलापते रहे, जबकि मौजूदा राज्य सरकार ने यह करके दिखाया है।  उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में दुग्ध उत्पादन को भी बढ़ावा दे रही है और इसी कड़ी में अच्छी नस्ल की भंैसों व गायों की डेयरी व्यवसाय को बढ़ावा दिया जा रहा है तथा अधिक मात्रा में दूध देने वाली गांयों व भैंसों की ईनाम योजना भी प्रदेश में वर्तमान सरकार द्वारा शुरू की गई है। स्वामीनाथन रिपोर्ट का जिक्र करते हुए मंत्री ने कहा हम उन सिफारिशों को लागू कर रहे हैं। किसानों को फसल खराबा मुआवजे के रूप में 12 हजार प्रति एकड़, आर्गेनिक खेती, हर खेत को पानी, बागवानी को बढ़ावा तथा किसानों की आय बढ़ाने के काम वर्तमान हरियाणा सरकार ने किया है। #किसान जमावडें में बोलते हुए हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने भाजपा के किसान मोर्चा को बधाई देते हुए कहा कि सरकार किसानों के हित में है और केन्द्र व हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने पर भारत एक कृषि प्रधान देश है और यहां के 80 प्रतिशत लोग खेती बाडी पर निर्भर है। उन्होंने स्पष्ट किया कि केन्द्र व हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने पर दोनों सरकारों ने जनहित में कार्य किए है। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद से किसानों के हर उत्पाद का दाना-दाना खरीदा जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार द्वारा पिछली सरकारों के समय के फसल खराबा मुआवजा के लिए भी 343 करोड रूपये की राशि किसानों को प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा अनाज मंडियों में भी सुधार किया है तथा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर लोगों की समस्याओं को सुन रहे हैं और विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं।
#किसान सम्मेलन में बोलते हुए भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष समय सिंह भाटी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में देश व प्रदेश की सरकारें दिन-रात जनहित में कार्य कर रही है। उन्होंनें कहा कि किसानों की आय दौगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री सात बिन्दूओं के तहत कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र पर किसान के अलावा 10 अन्य लोग भी निर्भर करते हैं। इसलिए सरकार किसानों के हितों के लिए गंभीर है। 
थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों को रिकार्ड तोड़ मुआवजा दिया और किसानों की भूमि के स्वास्थ्य की जांच करने के लिए हेल्थ सॉयल कार्ड जारी करने की योजना शुरु की। सरकार ने दक्षिण हरियाणा के साथ-साथ आखिरी टेल तक पानी पहुंचाने का काम किया। उन्होंने कुरुक्षेत्र में फुड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने की मांग की। 
# लाडवा विधायक डा. पवन सैनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने धान और गेहंू के न्यूनतम मुल्य में रिकाड़ तोड़ वृद्धि करने का काम किया। उन्होंने कृषि मंत्री के समक्ष किसानों की वकालत करते हुए कहा कि धान पर 400 रुपए बोनस दिया जाए और लाडवा और शाहबाद हल्के में टमाटर व आलू की फसल की लिए न्यूनतम मुल्य निर्धारित किया जाए और फुड प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की जाए। इसके अलावा सरकारी कोल्ड स्टोर भी बनाए जाए। 
#इस सम्मेलन में भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य एवं पूर्व मंत्री बलबीर सैनी, राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य अव्वल सिंह राणा, प्रदेश महामंत्री राजकुमार सैनी, भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष मंदीप सिंह विर्क, भाजपा जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, रविन्द्र सांगवान आदि ने भी अपने विचार रखे। इस सम्मेलन में जिलाध्यक्ष मंदीप सिंह विर्क व अन्य पदाधिकारियों ने कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी, प्रदेशाध्यक्ष समय सिंह भाटी, विधायक सुभाष सुधा, विधायक डा. पवन सैनी, जिलाध्यक्ष धर्मवीा मिर्जापुर को पगड़ी व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर अनुसूचित मोर्चा के अध्यक्ष रामपाल पाली, सुशील राणा, गुरपाल सिंह, गुरनाम मलिक, मुल्ख राज गुम्बर, विनित क्वात्रा, धर्मवीर खेड़ी, जसविन्द्र सैनी, मुख्त्यार सिंह, तिलक राज, मांगे राम कौशिक, खेमचंद टबरा, प्रेम गुर्जर आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *