शहर को खुले से शौच मुक्त रखने के लिए निरंतर जागना होगा अधिकारियों को:सुधा

कुरुक्षेत्र,लोकहित एक्सप्रैस,ब्यूरो चीफ,(शिवचरण राणा) । थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि शहर थानेसर को खुले शौच मुक्त रखने के लिए प्रशासन के अधिकारियों को हमेशा जागते रहने की जरूरत होगी। अगर एक बार कुरुक्षेत्र को खुले से शौच मुक्त करने के बाद हाथ पर हाथ रखकर बैठे रहे तो स्थिति फिर से खराब हो जाएगी। इसलिए नगर परिषद व संबधित विभाग के अधिकारी निरंतर शहर व गांव में सुबह व सायं के समय जाकर स्थिति का जायजा लेना होगा। इस मामले मेें जरा सी भी लापरवाही सहन नहीं की जाएगी।
# विधायक सुभाष सुधा रविवार को सुबह 6 बजे शहर में खुले से शौच मुक्त स्थिति का निरीक्षण करने के लिए लघु सचिवालय के पास पहुंचे। विधायक लघु सचिवालय केे पास उपाभोक्ता फोरम के सामने खाली जमीन पर खुले में शौच जाते हुए करीब 50 मजदूरों को पकड़ा। विधायक ने उन तमाम लोगों से पूछताछ की और तथ्य सामने आए कि सभी मजदूर बिहार व मध्य प्रदेश के रहने वाले है और अदालत परिसर में चल रहे निर्माण कार्य पर कार्यरत है। इन मजदूरों ने विधायक के समक्ष तथ्य रखे कि कोर्ट परिसर में शौचालय की व्यवस्था के प्रबंध ठेकेदार व प्रशासन की तरफ से नहीं किए गए और जो शौचालय है उनमें पानी की व्यवस्था नहीं की गई है। इसलिए मजबूरी में सभी मजदूरों को खुले में शौच के लिए जाना पड़ रहा है। विधायक  ने सभी मजदूरों को एक एक समझाने का प्रयास किया और जानकारी दी कि कुरुक्षेत्र जिला को 6 दिसंबर 2016 को खुले से शौच मुक्त जिला घोषित कर दिया गया है। ऐसे में किसी भी व्यक्ति को खुले में शौच जाने की ईजाजत नहीं दी जाएगी।
# विधायक ने मजदूरों की बात सुनने के बात कोर्ट परिसर का भी दौरा किया और सभी परिस्थिति का बारीकि से मुल्यांकन किया। यहां कोर्ट परिसर में मजबूरों के लिए ठेकेदार व प्रशासन की तरफ से शौचालय की कोई व्यवस्था की नहीं की गई थी। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए विधायक ने नप अधिकारियों ने सबसे पहले निर्माण साइट्स को निरीक्षण करने के आदेश दिए कि शहर में जहां कहीं भी सरकारी व प्राईवेट निर्माण कार्य चल रहे है वहां शौचालयों की व्यवस्था को चैक करें। अगर मौके पर शौचालय की व्यवस्था नहीं है तो संबधित साइट के मुखिया को व्यवस्था करवाने के आदेश दिए जाए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ साथ चंडीगढ़ के आला अधिकारी निरंतर प्रशासन व जन प्रतिनिधियों से खुले से शौच मुक्त के बारे में रिपोर्ट हासिल कर रहे है। इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों को फिल्ड में जाकर काम और निरीक्षण करने की जरूरत है। इस मामले में जरा सी भी लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। 
—————————————–
#ठेकेदार को दिए नोटिस जारी करने के आदेश
विधायक सुभाष सुधा ने नगर परिषद के अधिकारियों को आदेश दिए है कि कोर्ट परिसर में भवन बना रहे ठेकेदार को सबसे पहले नोटिस जारी करके अनुबंध को चैक किया जाए। इसके अलावा ठेकेदार को नियमानुसार जुर्माना भी किया जाए। नप ठेकेदार को नोटिस में मजदूरों के लिए शौचालय की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करेंगी।
—————————————–
#गठित टीमों को करनी होगी निगरानी
विधायक ने कहा कि प्रशासन द्वारा खुले से शौच मुक्त रखने के लिए कई कमेटियों का गठन किया हुआ है। इन कमेटियों के अधिकारियों को निरंतर संवेदनशील जगहों पर चैक करने की जरूरत है।
—————————————–
#नप करवाए अस्थाई व्यवस्था
विधायक ने नप अधिकारियों को निर्माण साइटस पर अस्थाई शौचालय की व्यवस्था करवाने के आदेश दिए है। इसके लिए नप अधिकारी निर्माण साईट्स का दौरा करके रिपोर्ट तैयार करना भी सुनिश्चित करेंगे। शहर व गांव में किसी भी कीमत पर लोगों को खुले में शौच करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *