अरावली से सटे मेवात क्षेत्र के सभी गांवो में 24 घंटे बिजली दी जाए
January 11th, 2019 | Post by :- | 214 Views
नूंह मेवात ,( लियाकत अली )  ।   नूंह से इनेलो विधायक चौ0 ज़ाकिर हुसैन ने पिछले दिनों अरावली से सटे मेवात क्षेत्र के अलग-अलग गांवो में तेंदुए व उसके दो बच्चों को देखे जाने पर जिला प्रशासन से मांग की है कि वन विभाग अरावली से सटे सभी गांवों में सर्च अभियान तब तक चलाए जब तक तेंदुआ व उसके बच्चे उनकी गिरफ्त में नहीं आ जाते। उन्होंने कहा कि इन गांवों में लगातार खौफ का माहौल है। लोग तेंदुए के डर से अपना खेती-बाड़ी का काम भी नहीं कर पा रहे हैं। बच्चे और महिलाएं भी डरी हुई हैं। वन विभाग इस मामले को हल्के में ना लें क्योंकि तेंदुआ से किसी की जान भी जा सकती है। उन्होंने कहा कि वन विभाग जल्द से जल्द तेंदुए व उसके बच्चों को पकड़ने का काम करे तथा अरावली से सटे सभी गांवों में सुरक्षा प्रदान करे।
      उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा इन गांवों में सुरक्षा भी मुहय्या कराई जाए। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि अरावली से सटे सभी गांवो को 24 घंटे बिजली मुहय्या कराई जाए, क्योंकि जंगली जानवरों से खतरा कहीं पर भी हो सकता है।
     उल्लेखनीय है कि पिछले कई दिनों से अरावली से सटे गांवों में आतंक मचा रहे तेंदुए ने चार गांवों में जमकर कोहराम मचाया। बुधवार की सुबह अरावली से सटे गांव माहोली, सोलपुर, हसनपुर-बिलोंडा के खेतों में आए तेंदुए ने हडक़च मचा दिया। देर रात भी तेंदुए ने दुधारु मवेशियों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया था। सूचना पाकर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाकर तेंदुए को पकडऩे का प्रयास किया। लेकिन टीम के तेंदुआ हाथ नहीं लगा।
     बता दें कि पिछले तीन माह से अरावली से सटे गांवों में तेंदुए के आंतक ने ग्रामीणों ने खौफ पैदा किया हुआ है। पिछले 15 दिनों से उपरोक्त गांवों के जंगलों में तेंदुआ लगातार देखा जा रहा है। तीन दिन पहले तेंदुए ने दो दुधारु पशुओं को अपना शिकार बनाया था।  क्षेत्र के लोगों में रात्रि के समय खेतों  मेें जाने  के लिए भी  खौफ पैदा हो गया है। जबकि गत रात्रि जिन लोगों ने तेंदूए को देखा है उन्होंने बताया कि तेंदुए के साथ दो बच्चे भी हैं। अगर लोगों की संख्या ज्यादा होती तो वो उसे सरसों के खेत से बाहर नहीं जाने देते। लेकिन रात का अंधेरा और जान का खतरा सोचकर उन्होंने इरादा बदल दिया।