मैराथन दौड़ को लेकर एडीजीपी ने ली थानाधिकारियों की क्लास
January 10th, 2019 | Post by :- | 4 Views

यमुनानगर, लोकहित एक्सप्रैस( अंसल )। मैराथन दौड़ को लेकर लघु सचिवालय में मुख्यमंत्री के सहयोगी एवं एडीजीपी ओ.पी.सिंह व जिला उपायुक्त गिरीश अरोरा ने जिला के सभी थानों के एसएचओ, मीडिया कर्मियों और जिला के सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक ली।
मौके पर सभी को सम्बोधित करते हुए ओ.पी. सिंह ने कहा कि 18 जनवरी को यमुनानगर सड़क सुरक्षा मैराथन का आयोजन किया जाएगा जिसमें जिला के गांवों, कस्बों और शहरों के नौजवान, महिलाएं, बजुर्ग और बच्चें भी भाग लेंगे और जिला के साथ-साथ पूरे प्रदेश व देश को सड़क सुरक्षा जागरूकता नियमों के बारे में जानकारी देंगे। उन्होंने बताया कि यमुनानगर की जनता मैराथन को लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित है। जिस प्रकार की प्रतिक्रियाएं समाज के सभी वर्गों से मिल रही हैं वह उत्साहित करने वाली हैं। उन्होंने सभी थाना प्रबंधकों से अनुरोध कि वे प्री-मैराथन का जो आयोजन कर रहे हैं उसे लगातार जारी रखें ताकि 18 जनवरी तक लोगों में उत्साह बना रहे और मैराथन में भाग लेने की प्रेरणा मिलती रहे। अनेक प्रकार की घटनाओं और तथ्यों का उल्लेख करते हुए श्री सिंह ने कहा कि जिंदगी बेशकीमती है इसलिए इसकी सुरक्षा करना हर हाल में जरूरी है। आंकड़े यह बता रहे हैं कि इन दिनों अन्य घटनाओं की अपेक्षा सड़कों पर मौतें ज्यादा हो रही हैं जिसका एक मात्र कारण है कि सड़क सुरक्षा नियमों का पालन न करना और जागरूकता का न होना।
एडीजीपी ओ.पी.सिंह ने पत्रकारों का आवाह्न किया कि वह समाज का आईना हैं और उनके द्वारा सड़क सुरक्षा जागरूकता नियमों को बहुत आसानी व प्रभावी ढग़ से जन-जन तक पहुचाया जा सकता है। इसलिए यमुनानगर सड़क सुरक्षा मैराथन में सभी पत्रकार साथी सहभागिता करते हुए तथा इसे स्वयं का आयोजन मानते हुए इस संदेश को जन-जन तक पहुंचाने का मानवीय कार्य संकल्प के साथ करें तो निश्चित रूप से आयोजन सार्थक होगा।
इससे पूर्व जिला उपायुक्त गिरीश अरोरा ने एडीजीपी ओ.पी.सिंह व बैठक में उपस्थित सभी का स्वागत करते हुए कहा कि यह उल्लेखनीय तथ्य है कि यमुनानगर में सड़क हादसों में क्षतिग्रस्त और मरने वालों की तादात काफी बढ़ी है। इसी बात को लेकर हरियाणा सरकार चिंतित है और परिणाम स्वरूप यमुनानगर सड़क सुरक्षा मैराथन का आयोजन एडीजीपी ओ.पी. सिंह के मार्गदर्शन में किया जा रहा है जिसमें समाज के सभी वर्गों को जागरूक करने के साथ-साथ 18 जनवरी को आयोजित मैराथन में भाग लेने के लिए कहा जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैराथन को लेकर अच्छा-खासा उत्साह आमजन में देखने को मिल रहा है। उन्हें पूरा विश्वास है कि यमुनानगर सड़क सुरक्षा मैराथन का जो उद्देश्य है वह अवश्य पूरा होगा। मंच का संचालन गुरू नानक खालसा कॉलेज के जन संचार एवं मीडिया टैक्रोलोजी विभाग के अध्यक्ष डा. उदय भान सिंह ने किया।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त के.के.भादू, अम्बाला की पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी, जगाधरी के एसडीएम भारत भूषण कौशिक, डीएसपी आशीष चौधरी, डीएसपी मुख्यालय रणधीर सिंह, जिला खेल अधिकारी राजेन्द्र गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी आनंद चौधरी, डीआईपीआरओ स्वर्ण सिंह जंजोटर सहित पुलिस विभाग व अन्य विभागों के वरिष्ठï अधिकारी भी उपस्थित रहे।