साले ने नौकर व अन्य एक व्यक्ति साथ मिलकर किया जीजे का कत्ल ।
January 7th, 2019 | Post by :- | 49 Views
साले ने नौकर और एक अन्य  व्यक्ति के साथ मिलकर ही  सगे जीजा का किया कत्ल ,कत्ल की वजह आंतकवादी भाई को पुलिस को पकड़वाने की बताई वजह ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
साले ने ही नौकर व अन्य एक व्यक्ति साथ मिलकर  मौत के घाट 29 दिसंबर 2018 को मौत के घाट उतार दिया गया था। ।जबकि जसमेर सिंह खलेहरा ने इस कत्ल का आरोप उसी गांव के निवासी हरजिंदर सिंह पुत्र मोहिंदर सिंह ,जसपाल सिंह पुत्र जोगिंदर सिंह ,कुलदीप सिंह पुत्र तारा सिंह व 2-3 अज्ञात व्यक्तियो  के खिलाफ लगाए गए थे जिसमें उसने आरोप लगाया कि इन व्यक्तियों ने उसके जीजे तजिंदर सिंह पुत्र समुंद सिंह के सिर में चोटें मारकर हत्या कर दी थी ।जिसके चलते पुलिस थाना जंडियाला गुरु में इन व्यक्तियों के खिलाफ जेरे धारा 302 ,341 ,148 ,149 आई पी सी के तहत मामला दर्ज किया गया था।लेकिन पुलिस की जांच में यह शक की सुई  जसमेर सिंह और उसके नौकर टीटू पर घूमने लगी ।जिसका खुलासा भी उत्तम हिन्दू ने पहले ही कर दिया था ।कई पहलुओं  पर  जांच करने पर यह बात सामने आई कि आखिर सुबह 5 बजे वह किसको वोट कहने गए थे ?जिस जगह घटना हुई वहां चारे के खेत मे पांव के निशान सिर्फ कुछ जगह ही लगे थे जबकि अगर इतने आरोपी होते तो उनके पैरों के निशान क्यों नही लगे । वही मीडिया को आरोपी के दिये गए बयान में यह कह रहा है कि मैंने अपने जीजे को बचाने की जगह अपनी जान बचाई यह भी शक की सुई  उस तरफ घूमती थी ।फिर वह सुबह सुबह 5 बजे कैसे इन आरोपियों को पहचान गया जबकि वह कह रहा था मुझे  अंधेरे में पता नही चला। ।इसके इलावा सबसे अहम बात यह भी सामने आई है कि उसने चुनाव वाले दिन अपना वोट डाला नही जबकि उसकी पत्नी रुपिंदर कौर सरपँच की उम्मीदवार थी ।इन सब बातों का कहीं ना कही कत्ल के साथ  तार जुड़ा हुआ साबित करता है। इसके घटना की जांच के लिए एस एस पी देहाती परमपाल सिंह और एस पी डी हरपाल सिंह पहुंचे थे ।जिन्होंने ने जांच के आदेश दिए थे  ।जब इस मामले की गम्भीरता से जांच की तो यह बात सामने  आई कि शिकायतकर्ता जसमेर सिंह  खलेहरा ,टीटू सिंह (नौकर )और जगीर सिंह पुत्र प्रीतम सिंह निवासी दशमेश नगर थाना जंडियाला गुरु जिला अमृतसर ने तजिंदर सिंह (जसमेर का जीजा )का क़त्ल किया है ।इसकी वजह जसमेर सिंह ने पूछताछ में उसके छोटे भाई पलविंदर सिंह उर्फ़ सोना जो को आंतकवादी था को पुलिस से पकड़वाया था ।इस मामले पुलिस ने ऊक्त तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया और उससे खून से लथपथ कपड़े भी बरामद कर लिए गए हैं ।आरोपी जसमेर सिंह ने यह बताया कि हरजिंदर सिंह व अन्य व्यक्तियों का नाम इस लिए लिखाया था क्योंकि आरोपी की पत्नी रुपिंदर कौर हरजिंदर सिंह पत्नी संदीप कौर दोनों चुनाव में सरपंची के लिए खड़ी थी ।जिसमे आरोपी की पत्नी  चुनाव हार गई।
मृतक की फ़ाइल फ़ोटो।