हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा: लेवल-3 की परीक्षा में 15 केंद्रों पर 4650 अभ्यार्थियों ने परीक्षा दी, लेवल-1 व 2 की परीक्षा आज
January 6th, 2019 | Post by :- | 316 Views

कुरुक्षेत्र, लोकहित एक्सप्रेस, (अनिल सैनी) | हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटेट)-2018 लेवल 1, 2 व 3 का आयोजन 05 व 06 जनवरी, 2019 को करवाया जा रहा है। डॉ. जगबीर सिंह ने बताया कि अभ्यर्थी द्वारा परीक्षा हेतु ई-पंजीकरण आवेदन के समय दर्शाई गई पहचान जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राईविंग लाईसेंस कार्ड आदि मूल रूप से परीक्षा केंद्र पर पहचान पत्र के तौर पर साथ लेकर जाना अनिवार्य है तथा अभ्यर्थी परीक्षा आरम्भ होने से 2 घण्टे 10 मिनट पूर्व परीक्षा केंद्र पर पहुंचना सुनिश्चित करें ताकि वह परीक्षा केंद्र पर मेटल डिटेक्टर से तलाशी, बायोमैट्रिक डाटा कैप्चरिंग और अन्य अनिवार्य औपचारिकताएं समय से पूरी कर सकें। परीक्षा आरम्भ होने से एक घण्टा पूर्व परीक्षा केंद्र में प्रवेश बंद हो जाएगा।
कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि अभ्यर्थी इस बारे विशेष ध्यान रखें कि एडमिट कार्ड रंगीन होना चाहिए| Confirmation Page की प्रति पंजीकरण के समय अपलोडिड रंगीन फोटो की एक प्रति लगाकर व राजपत्रित अधिकारी से सत्यापित करवाकर परीक्षा केंद्र में जमा करवायी जानी अनिवार्य है। Confirmation Page पर अभ्यर्थी द्वारा परीक्षा कक्ष में पर्यवेक्षक की उपस्थिति में बायें हाथ के अंगूठे का निशान लगाया जाना है व हस्ताक्षर किए जाने हैं। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी को किसी भी अवस्था में केंद्र परिवर्तन की अनुमति नहीं होगी।
बोर्ड अध्यक्ष ने आगे बताया कि अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र के अंदर अंगूठी, बालियां, चैन, हार, लटकन, ब्रोच इत्यादि जैसे सभी गहने, किसी भी धातु की वस्तु, कैमरा, घड़ी, कैलकुलेटर, मोबाईल फोन, पेजर, ब्लूटूथ, इयरफोन, पर्स, लॉग टेबल, हेयर बैण्ड, इलैक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स, प्लास्टिक पाउच, रिक्त या मुद्रित कागज, लिखित चिट इत्यादि लेकर जाने की अनुमति नहीं है। किसी भी वस्तु को केंद्र पर रखने की व्यवस्था नहीं होगी। उन्होंने बताया कि विवाहित महिला अभ्यर्थी को मंगलसूत्र धारण करने, बिन्दी व सिंदूर लगाने की अनुमति होगी। केवल Baptized Sikh Candidates को धार्मिक प्रतीकों को ले जाने की अनुमति है।
शनिवार को हुई लेवल-3 की परीक्षा में 15 केंद्रों पर 4650 अभ्यार्थियों ने परीक्षा दी। हालांकि जिले में परीक्षा शांतिपूर्ण रही। परीक्षार्थी को गेट में एंट्री से लेकर परीक्षा रूम तक चार जगह जांच के बाद परीक्षा केंद्र तक जाने दिया गया। जिले में कहीं किसी तरह की गड़बड़ी सामने नहीं आई। परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से निपटी। परीक्षा को लेकर सख्ती इतनी थी कि महिलाओं को किसी तरह का आभूषण या चेन आदि पहनकर परीक्षा में एंट्री नहीं करने दिया गया। परीक्षा केंद्र के अंदर जाने के लिए परीक्षार्थियों को कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। सबसे ज्यादा परेशानी महिला परीक्षार्थियों को आई। नवविवाहित महिलाओं के शगुन का चूड़ा तक उतरवा लिया गया, अधिकारियों की मिन्नतें करने के बाद भी छूट नहीं दी गई। महिला परीक्षार्थियों के कान की बालियां व नाक का कोका न उतरने के कारण उन्हें सुनार के पास जाना पड़ा।

परीक्षा केंद्र में दोपहर एक बजे एंट्री शुरू हुई और दो बजे तक चली। पुलिस कर्मियों द्वारा चे¨कग करने के बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया। परीक्षार्थियों के जूते व जुराबें उतरवाकर चैकिंग की गई।सबसे ज्यादा परेशानी महिला परीक्षार्थियों को उठानी पड़ी। महिलाओं को नाक का कोका डालकर अंदर जाने की अनुमति नहीं थी। मौके पर महिलाओं ने कोका उतारने की कोशिश की, लेकिन लॉक होने के कारण नहीं उतार पाई। एंट्री का अंतिम समय नजदीक आता देख कई परीक्षार्थी सुनार के पास पहुंची तो कई जगह सुनार को मौके पर बुलाया गया। डयूटी मजिस्ट्रेट ने परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड की जांच की।
पत्नी ने दी परीक्षा तो पति ने साढे तीन घंटे संभाले बच्चे
पति व पत्नी दोनों को शनिवार को परीक्षा देनी पड़ी। पत्नी अंदर जहां एचटेट की परीक्षा दे रही थी वहीं पति बाहर बच्चों को संभाल रहे थे। इसके अलावा महिला परीक्षार्थियों के साथ आए अन्य परिजन भी छोटे-छोटे बच्चों को संभालते हुए नजर आए।

वहीं यातायात व्यवस्था सुचारू करने 150 होमगार्ड व पुलिस के जवानों ने व्यवस्था संभाली। रविवार को एचटेट लेवल-2 टीजीटी टीचर परीक्षा सुबह दस बजे से साढ़े 12 बजे तक होगी। एचटेट लेवल-1 जेबीटी की परीक्षा शाम तीन से साढ़े पांच बजे तक होगी।