चंडीगढ़ शिक्षा विभाग में 418 शिक्षकों की होगी भर्ती, आवेदन आठ अक्टूबर से
September 24th, 2018 | Post by :- | 247 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )   ।     चंडीगढ़ शिक्षा विभाग में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया आगामी आठ अक्टूबर से शुरु होने जा रही है। जानकारी अनुसार भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित करने से लेकर अन्य सभी शेड्यूल तैयार कर लिया गया है। सर्व शिक्षा अभियान (एसएसए) के तहत होने वाली शिक्षक भर्ती दो चरणों होगी। पहले चरण में 418 जेबीटी और दूसरे चरण में 194 टीजीटी शिक्षक भर्ती किए जाएंगे। आठ अक्टूबर से जेबीटी पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा। चंडीगढ़ शिक्षा विभाग में करीब चार साल बाद शिक्षकों की भर्ती हो रही है। चंडीगढ़ के अलावा पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, दिल्ली सहित देश भर के युवा भर्ती के लिए आवेदन कर सकेंगे। शिक्षा विभाग अगले कुछ दिनों में अखबार में विज्ञापन जारी करेगा।

आठ अक्टूबर से कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन

जेबीटी शिक्षकों की भर्ती सेक्टर-26 स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्निकल टीचर्स ट्रेनिंग एंड रिसर्च (निटटर) रिक्रूटमेंट एजेंसी करेगी। आठ अक्टूबर से एक नवंबर 2018 तक निटट्र वेबसाइट पर आवेदन किया जा सकेगा। आवेदन के लिए जनरल कैटेगरी में फीस 800, एससी कैटेगरी में 400 और दिव्यांग कैटेगरी की कोई फीस नहीं होगी। फीस पंजाब नेशनल बैंक(पीएनबी) या ऑनलाइन भी जमा की जा सकेगी। आवेदनों की संख्या को देखते हुए पांच नवंबर को लिखित परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। लिखित परीक्षा नवंबर अंत में ही आयोजित की जाएगी।

ढाई घंटे की होगी परीक्षा, नहीं लिया जाएगा इंटरव्यू

जेबीटी शिक्षकों की चयन पूरी तरह सिर्फ लिखित परीक्षा की मेरिट के आधार पर होगा। लिखित परीक्षा ढ़ाई घंटे की होगी, जिसमें 150 ऑब्जेक्टिव सवाल पूछे जाएंगे। भर्ती में पारदर्शिता के लिए कैंडीडेट्स का कोई इंटरव्यू नहीं होगा। चयन की मेरिट लिस्ट के लिए कम से कम 40 फीसद अंक हासिल करने होंगे। परीक्षा में नेगेटिव मार्किग तय की गई है। परीक्षा केंद्र सिर्फ चंडीगढ़ में ही बनाए जाएंगे। लिखित परीक्षा के अंक बराबर रहने पर सीटीईटी के अंकों पर मेरिट लिस्ट बनेगी।

37 वर्ष तक की आयु वाले कर सकेंगे आवेदन

जेबीटी भर्ती के लिए इस बार आयु सीमा भी बढ़ाई गई है। जानकारी अनुसार अनिवार्य क्वालिफिकेशन रखने वाले 21 से 37 वर्ष के युवा नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। जेबीटी आवेदन के लिए दो योग्यता रखी गई हैं। जिसमें ग्रेजुएशन, डिप्लोमा इन एलीमेंटरी एजुकेशन और सीटीईटी अथवा ग्रेजुएशन 50 फीसद अंक, बीएड और सीटीईटी में से एक योग्यता शामिल है।

भर्ती घोटाले से सबक, कड़ी सुरक्षा में होगी परीक्षा

शिक्षा विभाग की पहले हुई दोनों भर्ती विवादों में रही है। 2014 में 1140 शिक्षकों की भर्ती पर तलवार लटकी हुई है। 850 शिक्षकों को शिक्षा विभाग ने 30 जून को नौकरी से निकाला जा चुका है। जिस पर कोर्ट द्वारा अभी स्टे दी हुई है। ऐसे में इस भर्ती को सफलतापूर्वक करना विभाग के लिए बड़ी चुनौती है। सूत्रों के अनुसार लिखित परीक्षा में सभी केंद्रों पर जैमर लगाए जाएंगे। कैंडिडेटों की बायोमेट्रिक एटेंडेंस और वीडियोग्राफी की जाएगी।

रिक्रूटमेंट एजेंसी के कारण हुई भर्ती में देरी

शिक्षा विभाग को एमएचआरडी द्वारा जुलाई से पहले ही एसएसए के तहत 600 से अधिक जेबीटी और टीजीटी शिक्षकों की भर्ती की अनुमति दे दी थी। लेकिन विभाग को शिक्षकों की भर्ती के लिए रिक्रूटमेंट एजेंसी फाइनल करने में देरी हुई। भर्ती घोटाले के कारण पीयू रिक्रूटमेंट एजेंसी पहले ही डीबार हो चुकी है। उधर पंजाब एंड हरियाणा रिक्रूटमेंट एजेंसी ने भी भर्ती करने से इंकार कर दिया। आखिर में विभाग निटटर से एग्रीमेंट करने में सफल हो पाया। जिससे भर्ती में करीब तीन महीने की देरी हुई।