कोचिंग सेंटर मेवात के विकास में मील का पत्थर साबित होगा : रहीशा खान
September 13th, 2018 | Post by :- | 142 Views
  नूंह मेवात ,( लियाकत अली )  ।   हरियाणा वक्फ बोर्ड के चेयरमैन व राज्य मंत्री रहीशा खान ने  पुन्हाना सीनियर सेकेंडरी स्कूल में हरियाणा वक्फ बोर्ड द्वारा शुरू होने जा रहे कोचिंग सेंटर का दौरा किया व वहाँ मौजूद सभी अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए।
इस दौरान स्कूल पहुंचने पर उनका स्वागत खंड शिक्षा अधिकारी सद्दीक अहमद व प्राचार्य अलताफ हुसैन ने पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।
बता दें कि हाल ही में राज्य मंत्री रहीशा खान की अध्यक्षता में हरियाणा वक्फ बोर्ड ने पुन्हाना में एककोचिंग सेंटर की स्थापना को मंजूरी दी है। आज चेयरमैन वक्फ बोर्ड ने सेंटर का दौरा किया और वहां स्कूल में मौजूद छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षा के प्रचार प्रसार के लिए वो कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही वो हथियार है जिससे यहाँ के छात्र मेवात के मुस्तकबिल को ऊंचा उंठायेंगें।
चौधरी रहीशा खान ने छात्रों से कहा कि उनकी नौकरियों में भागीदारी बढाने के लिए वो इस कोचिंग सेंटर को शुरू कर रहे हैं क्योंकि यहाँ के छात्रों में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। उन्हें उम्मीद है कि ये सेंटर मेवात के विकास में मील का पत्थर साबित होगा और यहाँ के छात्रों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाएगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है और उन्होंने आह्वान किया कि सभी शिक्षक इलाके के बच्चे के लिए हर संभव प्रयास करें।
हरियाणा वक्फ बोर्ड के चेयरमैन व राज्य मंत्री रहीशा खान ने कहा कि मनोहर लाल सरकार शिक्षा के प्रचार प्रसार के लिए पूरी तरह से उनके साथ खडी है। भाजपा सरकार भी अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को शिक्षा के संसाधन मुहैया कराकर मजबूत और सक्षम बनाने के लिए पूरी तरह से गंभीर है।
इस दौरान इस सेंटर के समनव्यक वसीम अकरम ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि ये कदम ऐतिहासिक है और इससे मेवात में एक नई प्रथा शुरू होगी। चेयरमैन रहीशा खान के नेतृत्व में वक्फ बोर्ड का ये एक क्रांतिकारी कदम है। कई आई ए एस, आई पी एस व सीनियर शैक्षणिक अधिकारी हमारे बच्चों को कोचिंग देते हुए नजर आयेंगे।
खंड शिक्षा अधिकारी सद्दीक अहमद ने कहा कि ये बेहद गंभीर व बेहतरीन प्रयास है जिसमें पूरे तरह से सकारात्मक सहयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्कूल का समस्त प्रशासन इस परियोजना में जो भी आवश्यक होगा वो मदद प्राथमिकता से करेगा।
स्कूल के प्राचार्य अलताफ हुसैन ने आश्वासन दिया कि स्कूल सभी पहलुओं पर गंभीरता से काम कर रहा है और ये ऐतिहासिक परियोजना स्कूल को ओर बेहतर बनाने का काम करेगी।
इस दौरान सहायक प्रोफेसर वसीम अकरम, खंड शिक्षा अधिकारी सद्दीक अहमद, प्राचार्य अलताफ हुसैन, आबिद हुसैन, कमर अली, शौकत अली, अब्बास खान, शकील अहमद, क्रष्ण कुमार, होशियार सिंह, चंद्रभान सहित अन्य अध्यापक गण व सैंकड़ों छात्र मौजूद थे।