पूरे समाज को रोशनी देने वाला कर्मचारी आज अंधेरे में जा रहा है मशाल जुलूस निकालकर सरकार को दे रहे हैं यह संदेश-अगर सरकार नहीं जगी तो होगा 20 अगस्त को विधानसभा का घेराव
August 10th, 2018 | Post by :- | 1 Views
कैथल -विशाल चौधरी (ब्यूरो चीफ)  सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर आज विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने जवाहर पार्क से जिला स्तरीय प्रदर्शन करते हुए  विशाल मशाल जुलूस शहर के सभी प्रमुख बाजारों, कमेटी चोंक, पार्क रोड, मैन बाजार, रेलवे गेट, नर्वाणीय बिल्डिंग, छात्रावास रोड, पुराना बस स्टैंड होते हुए पेहवा चौंक तक निकल गया। मशाल जुलूस का नेतृत्व जिला संगठन सचिव रामपाल शर्मा व संचालन जिला सचिव जरनैल सिंह ने किया। पत्रकारों से बात करते हुए  की  मनोहर लाल की सरकार  बार-बार कर्मचारी संगठनों के साथ समझौते करके अपने वादों से मुकर रही है। उन्होंने 31 मई 2018 को माननीय हाइ कोर्ट के नियमितीकरण की नीतियों के मामले में आए फैसले से प्रभावित 4658 कर्मचारियों की रोजी-रोटी की सुरक्षा और लाखों कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के लिए विधानसभा के अंदर कानून बनाने की मांग को जोर-शोर से उठाया।
    उन्होंने कहा की  कर्मचारियों की पुरानी पेंशन स्कीम व एक्स ग्रेशिया रोजगार स्कीम को बहाल करवाने, समान काम समान वेतनमान दिलाने, आउटसोर्सिंग-निजीकरण- पीपीपी-ठेका प्रथा व पेपरलेस कार्यालय बनाने की जनविरोधी नीतियों को वापिस लेने, सभी कच्चे कर्मचारियों की नौकरी की सुरक्षा सहित सभी प्रकार के सामाजिक सुरक्षा लाभ देने, ठेकेदारी के आधार पर लगे कच्चे कर्मचारियों को सीधे विभागों के पैरोल पर रखने, ठेका प्रथा को समाप्त करने, सार्वजनिक जनसेवा व रोजगार की सुरक्षा के लिए, सातवें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों अनुसार मकान किराया भत्ता समेत सभी भत्तों में एक जनवरी 2016 से लागू करवाने, कैशलेस मेडिकल सुविधा लागू करने, खाली पड़े पदों पर स्थाई भर्ती करवाने, टीजीटी,पीजीटी शिक्षकों सहित अन्य सभी रिक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया को जल्द पूरा करवाने, वर्कलोड के अनुसार नए पद सृजित करने, आरक्षित श्रेणियों का बैगलॉग विशेष भर्ती प्रकिया से भरवाने, पर्यटन निगम व पैक्स निगम सहित सभी वंचित विभागों के सेवा नियम बनवाने, आंगनवाड़ी, आशा वर्कर, मिड डे मील वर्कर, ग्रामीण सफाई कर्मचारियों व चौकीदारों को कर्मचारी का दर्जा दिलवाने, श्रम कानूनों का सख्ती से पालन करवाने आदि मुख्य मांगों को मनवाने के लिए मशाल जुलूस के जरिए रोष प्रकट किया गया। 
 
  उन्होंने सरकार को चेतावनी दी कि जल्द से जल्द सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के 12 सूत्रीय मांग पत्र को लागू करें अन्यथा आगामी 20 अगस्त को विधानसभा कूच में लाखों कर्मचारी पहुंचकर घेराव करेंगे ।  जहाँ से अनिश्चित कालीन आम हड़ताल का आगाज किया जा सकता है।