जालंधर के वैस्ट हलके में नशा बिक्री सबसे ज्यादा ……
August 8th, 2018 | Post by :- | 7 Views

जालंधर, (  लोकहित एक्सप्रैस )    ।    राज्य में नशा बिक्री इस वक्त चरम पर है, मगर उसे रोकने के लिए पुलिस उस स्तर का काम नहीं कर रही, जिस स्तर का होना चाहिए। वहीं कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा नशीले पदार्थों में टैल्कम पाऊडर की मिलावट कर अपराधियों को फायदा पहुंचाने की भी बात सामने आई है।

जालंधर की बात करें तो वैस्ट हलके में नशा बिक्री सबसे ज्यादा है। पुलिस द्वारा नशों की सप्लाई चेन पर चोट करने के दावे भी खोखले लग रहे हैं। पुलिस केस तो दर्ज कर रही है, मगर बाद में तस्कर लगातार बरी हो रहे हैं और न ही पुलिस पकड़े गए तस्करों के मार्फत सप्लाई करने वाले अपराधियों को पकड़ पा रही है। ताजा आंकड़ों की बात करें तो 1 जनवरी, 2018 से लेकर अब तक थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस ने 132 मुकद्दमे दर्ज किए, जिनमें से एन.डी.पी.एस. एक्ट (नशा तस्करी) के तहत केस सिर्फ 13 दर्ज किए, जिनमें 15 आरोपी पकड़े गए।

वहीं, दूसरी ओर थाना 5 की पुलिस ने अब तक 17 केस दर्ज किए, जिनमें 21 लोग गिरफ्तार हुए। इन सभी केसों में पकड़े गए आरोपी इस वक्त जेल में हैं और कुछ जमानत पर बाहर आ गए हैं, जोकि दोबारा नशा तस्करी कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो नशा तस्करों को बेल इस कारण मिलती है कि कई पुलिस की ब्लैक शीप जब नशा पकड़ती है तो आरोपी से मिलकर हैरोइन या नशीले पाऊडर में कोर्ट में पेश करने से पहले टैल्कम पाऊडर डाल देती हैं। केस कोर्ट में चलने के दौरान सैंम्पल फोरैंसिक लैब में भेजे जाते हैं। वहां पर टैस्ट होने पर जब रिपोर्ट नैगेटिव आती है तो तस्करों को जमानत मिल जाती है।