वन विभाग और शिक्षा विभाग मिलकर पहली बार प्रदेश में बड़े पैमाने पर करेंगे पौधारोपण।
July 11th, 2018 | Post by :- | 14 Views

करनाल (रजत शर्मा), पर्यावरणीय सुधार को लेकर हरित हरियाणा अभियान की शुरूआत हो गई है। इसके तहत वन और शिक्षा विभाग मिलकर पहली बार प्रदेश में बड़े पैमाने पर पौधारोपण करेंगे। इस मुहिम का नाम पौधगिरी दिया गया है। करनाल में इसकी शुरूआत बुधवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (लडक़े) से की गई, जहां वन मण्डल अधिकारी, डी.ई.ई.ओ., खण्ड़ शिक्षा अधिकारी, विषय विशेषज्ञ और विद्यार्थियों ने स्कूल परिसर में पीपल, नीम व बरगद की त्रिवेणी के साथ-साथ अमरूद, अनार जैसे फलदार व छायादार पौधे लगाए।

वन मण्डल अधिकारी बिजेन्द्र कुमार ने इस अवसर पर बताया कि इस वर्ष जिला में 450 हैक्टेयर में पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, प्रति हैक्टेयर 1100 पौधे लगाए जाएंगे। वन विभाग के अतिरिक्त किसानो की ओर से भी पौधे लगाए जाएंगे। दूसरी ओर छटी से बारहवीं तक के सरकारी व गैर-सरकारी स्कूलों के सभी बच्चे एक-एक पौधा लगाएंगे। विद्यार्थियों द्वारा करीब 1 लाख 40 हजार पौधे लगाए जाने है। उन्होने बताया कि जिला में वन विभाग की 11 नर्सरियां हैं, जिनमें विभिन्न किस्मो के छायादार व फलदार पौधे तैयार हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी सरोज बाला गुर ने बताया कि विद्यार्थियों द्वारा पौधारोपण करने का कार्यक्रम चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा। पहले चरण में जिला के सभी 106 वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, दूसरे चरण में 69 उच्च विद्यालय तथा तीसरे चरण में 119 मिडल स्कूलो के विद्यार्थी पौधगिरी में शामिल होंगे। उन्होने बताया कि विद्यार्थियों से पौधे लगवाने का मकसद उन्हे पर्यावरण से जुडऩे बारे प्रेरित करना है। विद्यार्थी पौधे लगाने के साथ-साथ उनकी देखभाल भी करेंगे। पौधे सभी विद्यालयों में नि:शुल्क मिलेंगे, प्रत्येक विद्यार्थी को एक-एक पौधा दिया जाएगा। उसे लेकर विद्यार्थी अपने घर आगंन, गांव के स्कूल, पंचायत घर व धर्मशाला या ऐसा कोई स्थान जहां उनकी अच्छे से देखभाल हो सके, वहा लगा सकते हैं। सभी स्कूलो में विद्यार्थियों को प्रार्थना सभा में प्रेरित किया गया है कि अपने हाथ से लगाए गए पौधे की देखभाल के लिए उसमें पानी देना है, पशुओ से बचाना है तथा उसकी ग्रोथ पर भी ध्यान रखना है। विद्यार्थी अपने पौधे के साथ सैल्फी ले सकते हैं। अपने नाम की प्लेट भी पौधे के साथ लगा सकते हैं, अर्थात पौधे के साथ मित्रता कर उसे कामयाब करना है। उन्होने बताया कि स्कूलो में ईको क्लब की पौधगिरी मुहिम को सफल बनाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

इससे पूर्व वन मण्डल अधिकारी ने बच्चो को पौधे लगाने का तरीका तथा उनका महत्व समझाया। उन्होने बताया कि मनुष्य का जन्म से लेकर मृत्यु तक पौधो से सम्बंध बना है। इस अवसर पर अतिरिक्त वन मण्डल अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी सपना जैन, स्कूल के प्राचार्य ओमप्रकाश, विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. सुशील कुमार, गणित विशेषज्ञ मोहन लाल मुंजाल, कम्प्यूटर शिक्षिक पुनीत शर्मा तथा विभिन्न अध्यापक भी उपस्थित थे। सभी ने एक-एक पौधा भी लगाया। विद्यार्थियों ने भी स्कूल परिसर में पौधे लगाए।