15 जुलाई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरा कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा
July 11th, 2018 | Post by :- | 13 Views

पंचकूला, ( लोकहित एक्सप्रैस )    ।   हरियाणा के फतेहाबाद में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के 15 जुलाई के आगमन को लेकर हरियाणा गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएस प्रसाद, डीजीपी बीएस संधू ने बुधवार को दौरा किया तथा कानून व्यवस्था व सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लिया। इस मौके पर हिसार रेंज के आईजी संजय कुमार, उपायुक्त डॉ हरदीप सिंह व एसपी दीपक सहारण, प्रतीक्षा गोदारा, हामीद अख्तर सहित अन्य वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

हरियाणा गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएस प्रसाद व डीजीपी बीएस संधू ने संयुक्त रूप से भोडिया खेड़ा स्थित खेल स्टेडियम में बनाए गए हैलीपेड का निरीक्षण किया। इसके उपरान्त उन्होंने सभा स्थल नई अनाज मंडी का भी दौरा किया और भूना रोड स्थित लोक निर्माण विश्राम गृह में कार्यक्रम को लेकर अधिकारियों से विस्तारपूर्वक चर्चा की तथा उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरा कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को मजबूत करते हुए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए है। नई अनाज मंडी में संत शिरोमणि सतगुरू कबीर साहेब का 620वां प्रकट दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस समारोह के मुख्य अतिथि देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद होंगे। समारोह में वीवीआईपी, मंत्रीगण सहित बड़ी संख्या में नागरिक शामिल होंगे।

पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते हुए एसीएस (गृह) एसएस प्रसाद, डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि संत शिरोमणि सतगुरू कबीर साहेब का 620वां प्रकट दिवस समारोह में 5 आईपीएस अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। स्थानीय पुलिस के अतिरिक्त समारोह में केंद्रीय, दिल्ली व हरियाणा पुलिस के उच्चाधिकारी भी ड्यूटी पर तैनात रहेंगे तथा हर गतिविधियों पर नजर बनाए रखेंगे। एक अन्य प्रश्र का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि आगामी समय में पुलिस विभाग में सात हजार सिपाहियों की भर्ती की जाएगी। इसके अलावा 463 उप निरीक्षकों की भी भर्ती की जाएगी, जिसमें 63 महिला उप निरीक्षक होगी। नशा से संबंधित पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि फतेहाबाद, सिरसा आदि जिलों में नशा की रोकथाम के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ड्यूटी के दौरान निधन होने वाले पुलिस कर्मियों के आश्रितों को अब 30 लाख रुपये विशेष अनुग्रह अनुदान देंगी। अब तक मृतक पुलिसकर्मी की विधवा और आश्रितों को विशेष अनुग्रह राशि के तौर पर 10 लाख रुपये मिल रहे थे। उन्होंने बताया कि असामाजिक तत्वों से लड़ते हुए प्राकृतिक आपदाओं के दौरान लोगों की जान और संपत्ति को बचाते हुए मारे गए पुलिसकर्मी की विधवा या आश्रित को अब 20 लाख रुपये, माता व पिता को 5-5 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। इसी प्रकार कर्तव्य निर्वहन के दौरान अत्यंत गंभीर रूप से घायल हुए पुलिसकर्मी को 15 लाख रुपये, गंभीर घायल हुए पुलिसकर्मी को 10 लाख रुपये व मामूली चोट के लिए 5 लाख रुपये की राशि दी जाएगी।