शुगर से दुखी …. कृपया एक बार पुरा पढ़े और शेयर करे
June 13th, 2018 | Post by :- | 82 Views

आयुर्वेद के अनुसार डाइबिटीज व मधुमेह में मेथी का सेवन बहुत लाभदायक माना गया है। मेथी को भारतभर में आमतौर पर सेवन किया जाता है। यदि मेथी की सब्जी लोहे की कढ़ाही में बनायी गई तो इसमें लौह तत्व ज्यादा बढ़ जाती है। एनीमिया यानी खून की कमी के रोगियों को यह बहुत फायदेमंद है।

किसी भी व्यक्ति की कैल्सियम की दिनभर की जरूरत 400 मि. ग्राम कैल्सियम मिल जाता है। विटामिन ए और सी भी मेथी में खूब रहता है। ये दोनों विटामिन मेथी दानों की तुलना में मेथी की सब्जी में ज्यादा होते है। साधारण मेथी चम्पा व कसूरी मेथी। मेथी व मेथी दाना डाइबिटीज रोगियों के लिए बहुत अधिक लाभदायक है।

यदि दिनभर में 25 से 100 ग्राम तक मेथी दाने किसी भी रूप में सेवन कर लिया जाए तो रक्त शुगर की मात्रा के साथ बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल भी धीरे-धीरे कम होने लगता है। रोगी राहत महसूस करता रहता है। पीसे हुए मेथी दाने 50 से 60 ग्राम मात्रा को एक ग्लास पानी में भिगो दें। 12 घंटे बाद छानकर पीएं। इस तरह से सुबह-शाम रोज दो बार पीते रहने से मधुमेह में आराम मिलता है। इसके अलावा मेथी के पत्तों की सब्जी भी खाएं।

मेथी बहुत ही कारगर औषधि है।

इसके साथ ही यह पाचन शक्ति और

भूख बढ़ाने में मदद करती है।

अन्य गुणों में बारे में जानिए।

बदहजमी/अपच : घरेलू उपचार में

मेथी दाना बहुत उपयोगी होता है।

आधा चम्मच मेथी दाना को पानी के

साथ निगलने से अपच

की समस्या दूर होती है।

 

साइटिका व कमर का दर्द : आयुर्वेदिक चिकित्सकों के

अनुसार मेथी के बीज आर्थराइटिस

और सााइटिका के दर्द से निजात

दिलाने में मदद करते हैं। इसके लिए

1 ग्राम मेथी दाना पाउडर और सोंठ

पाउडर को थोड़े से गर्म पानी के साथ दिन में दो-तीन बार लेने से लाभ होता है।

डायबिटीज : इस रोग से दूर रहने के

लिए प्रतिदिन 1 टी स्पून

मेथी दाना पाउडर पानी के साथ

फांकें। इसके अलावा एक टी स्पून मेथी दाना को एक कप पानी में

भिगो कर रात भर के लिए छोड़ दें।

सुबह इसका पानी पिएं। इससे सीरम

लिपिड लेवल कम होता और वजन

भी संतुलित रहता है।

उच्च रक्तचाप : 5-5 ग्राम मेथी और सोया के दाने पीसकर सुबह-शाम

पीने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है।

न्यूट्रीशनल वैल्यू चार्ट

प्रति 100 ग्राम मेथी दाना में

आर्द्र ता – 13.70 ग्राम

प्रोटीन – 26.20 ग्राम

वसा – 5.80 ग्राम

मिनरल्स – 3.0 ग्राम

फाइबर – 7.20

ग्राम कार्बोहाइड्रेट – 44.1 ग्राम

एनर्जी – 333.0 किलो

कैलरी

कैल्शियम – 160.0 मिग्रा.

फास्फोरस – 370.0 मिग्रा.

आयरन – 6.50

मिग्रा. मेथी घर-घर में सदियों से अपना स्थान बनाए हुए है। खास तौर पर इसका प्रयोग मसालों में किया जाता है। इसके बीजों में फॉस्फेट, लेसिथिन और न्यूक्लिओ-अलब्यूमिन होने से ये कॉड लिवर ऑयल जैसे पोषक और बल प्रदान करने वाले होते हैं। इसमें फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर, नियासिन, थियामिन, कैरोटीन आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं।

मेथी का प्रयोग स्वाद बढ़ाने के लिए ही नहीं बल्कि सौंदर्य बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। मेथी में कैंसर रोधक तत्व भी पाए जाते हैं। इसका उपयोग डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और पेट संबंधी समस्या में फायदेमंद होता है।