महिला IAS ने सीनियर अधिकारी पर लगाया यौन शोषण का आरोप
June 11th, 2018 | Post by :- | 7 Views

चंडीगढ़, ( लोकहित एक्सप्रैस )    ।       हरियाणा की एक महिला आईएएसअधिकारी ने अपने सीनियर अधिकारी पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। महिला ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए एक सीनियर अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उक्त अधिकारी और उनके कुछ साथियों द्वारा पिछले कई दिनों से उनका यौन शोषण किया जा रहा है। आईएएस ने इस पूरे मामले की शिकायत हरियाणा सरकार, केंद्र और भारत के राष्ट्रपति से भी की है, जिसके बाद से ही यह मामला पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है।

आरोप लगाने वाली आईएएस अधिकारी ने अपनी फेसबुक पोस्ट में पूरी आपबीती बयां की है। आईएएस का कहना है कि उनके एक वरिष्ठ अधिकारी ने उन्हें शाम 5 बजे अपने कमरे में बुलाया और फिर रात 8 बजे तक वहीं बैठाए रखा। इसके बाद 22 मई को भी उन्होंने महिला अधिकारी को अपने केबिन में बुलाकर कहा कि वह किसी भी फाइल की नोटिंग पर टिप्पणी ना किया करें। इसके बाद 31 मई को एक बार फिर अधिकारी ने महिला आईएएस को अपने केबिन में बुलाकर कहा कि अगर वह फाइलों पर टिप्पणी करना बंद नहीं करेंगी तो उनकी एसीआर खराब भी की जा सकती है।

ढाई घंटे तक केबिन में बुलाकर बैठाया

इसके बाद 6 जून को भी अधिकारी ने महिला आईएएस को अपने केबिन में बुलाया और इसके बाद करीब ढाई घंटे तक उन्हें अपने केबिन में बैठाए रखा। इस दौरान अधिकारी ने आईएएस को अपने पास बुलाया और फिर कम्प्यूटर चलाना सिखाने की बात कही। इसके बाद महिला आईएएस असहज होकर अपनी कुर्सी पर बैठ गईं। इस दौरान अधिकारी ने आईएएस अधिकारी के पास आकर उनकी कुर्सी पर हाथ मारा और फिर किसी को फोन पर धमकाने लगे।

नियुक्ति के बाद से ही किया जा रहा परेशान
इस पूरी घटना के बाद अधिकारी के कुछ सहयोगियों ने महिला आईएएस से कहा कि वह इन सब की शिकायत ना करें। हालांकि उच्च अधिकारियों की धमकी का महिला आईएएस पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने 10 जून को इस पूरी घटना की जानकारी अपनी फेसबुक आईडी के जरिए साझा की। अपने आरोपों पर बात करते हुए महिला आईएएस ने कहा, ‘मैं अपने आरोपो पर कायम हूँ। विभाग में नियुक्ति के बाद से ही मुझे परेशान किया जा रहा था। मैंने जो आरोप लगाए हैं इसकी शिकायत संबंधित उच्च अधिकारियों को कर दी है और मैंने अपने आरोपो के साथ मैंने कुछ डॉक्युमेंट भी पोस्ट किए हैं।’

‘अपना इलाज कराएं महिला आईएएस’

वहीं आईएएस अधिकारी के इन आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महिला आईएएस ने जो आरोप लगाए हैं वह बेबुनियाद और आधारहीन हैं। उन्होंने कहा, ‘महिला आईएएस को कभी भी ऑफिस में अकेले नहीं बुलाया गया है, वह जब भी मेरे ऑफिस में आती थीं तो यहां कोई ना कोई जरूर मौजूद होता था। इन सब के बावजूद अगर आरोप लगाने वाली महिला आईएएस को मानसिक तौर पर कोई परेशानी है तो वह अपना इलाज करवाएं।’ बता दें कि आरोप लगाने वाली महिला आईएएस ने अपनी जान को खतरा बताते हुए अब राज्य और केंद्र सरकार से इस मामले में हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है। इसके साथ ही आईएएस ने इस मामले की जांच कराने की भी मांग की है।