हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के विकास खंडों को आदर्श बनाने की कि शुरूआत:-धीरा खंडेलवाल इंद्री खंड को लेकर अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश और कहा- विकास कार्यो में लाए तेजी।
April 16th, 2018 | Post by :- | 10 Views

करनाल 16 अप्रैल,(राजिन्द्र मिडडा-9034685383)
हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के विकास खंडों को आदर्श बनाने की एक नई पहल की गई है और एसीएस रैंक के उच्चाधिकारियों को इन विकास खंडों में विकास गति को तेज करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसी कड़ी में एसीएस धीरा खंडेलवाल सोमवार को अपने ब्लॉक इंद्री पहुंची और अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने बैठक में बैंकों से जुड़ी ऋण सेवाएं, कृषि, बागवानी, स्वास्थ्य, शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण, स्वच्छता, ग्रीन पार्को का विकास तथा उनमें होर्टिकल्चर वेस्ट से कम्पोस्ट बनाना, स्ट्रे कैटल का गऊशालाओं में भिजवाना, स्कूलों व कॉलेजो में पढऩे वाले नौंवी से बारहवीं तक के विद्यार्थियों के जाति, रिहायशी व आय जैसे प्रमाण पत्र बनाने के लिए विशेष शिविर लगाना, फसल अवशेष प्रबंधन तथा वायु प्रदूषण को कम करना, गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी के लिए सरकारी अस्पतालों में सभी आधुनिक सुविधाएं, पुलिस की कार्यशैली को आधुनिक एवं जन अकांक्षाओं के अनुरूप बनाना व अपराधों की रोकथाम तथा सडक़ दुर्घटनाओं में कमी आदि बिन्दुओं पर चर्चा कर समीक्षा की। उन्होने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे निर्धारित अवधि में अपने-अपने लक्ष्य पूरे करें। बैठक में एसडीएम प्रदीप कौशिक, इंद्री खंड के नोडल अधिकारी एवं जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस आर बाजवा, उप- पुलिस अधीक्षक राजीव,जिला शिक्षा अधिकारी सरोज बाला गुर, खंड शिक्षा अधिकारी रामकुमार, खंड कृषि अधिकारी जोजन सिंह के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया।
नगर पालिका क्षेत्र में ग्रीन पार्क विकसित करने के बिंदू की समीक्षा के दौरान नगर पालिका के कर्मचारी ने एसीएस को बताया कि शहर में गांधी पार्क विकसित की गई है,इसके अलावा डा०बी.आर. अम्बेडकर हर्बल उद्यान वन विभाग द्वारा विकसित किया गया है,जिसमें काफी लोग घूमने-फिरने के लिए आते है। एसीएस ने शहर में सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली और कहा कि जहां जरूरत है और बनाए जाए। उन्होंने कहा कि पार्क में ऑपन एयर जिम व झूलों की व्यवस्था करवाने के निर्देश दिये। बैठक में नगर पालिका कर्मचारी ने बताया कि इंद्री में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाने की प्रपोजल सरकार को भेजी गई है, स्वीकृति मिलते ही इस पर काम शुरू कर दिया जाएगा। पुलिस विभाग की गतिविधियों की समीक्षा करते हुए ए.सी.एस. ने निर्देश दिए कि इवटीजिंग पर अंकुश लगाने के लिए स्कूलो व कॉलेजो में शिकायत बॉक्स लगाए जाएं तथा पुलिस थानो के नम्बर भी डिस्प्ले किए जाएं।
एसीएस ने कृषि विभाग की स्कीमों की समीक्षा करते हुए खंड कृषि अधिकारी को निर्देश दिये कि फसल अवशेष प्रबंधन को लेकर ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक करें और बताए कि अनुदान राशि पर कृषि उपकरण सरकार द्वारा दिये जा रहे है। उन्होंने माईक्रो इरीगेशन स्कीम की समीक्षा के दौरान संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस योजना के बारे में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक करें और अपने लक्ष्य को निश्चित अवधि में पूरा करें। इसके अतिरिक्त छोटे किसानों को मधुमक्खी व मछली पालन तथा मशरूम उत्पादन के लिए प्रेरित करने के लिए भी कहा। समीक्षा बैठक में ए.सी.एस. ने कहा कि जिन अधिकारियों ने अच्छा कार्य किया है, वे बधाई के पात्र हैं, उन्हे आवार्ड देकर सम्मानित किया जाएगा। जिनके लक्ष्य पूरे नही हैं, वे लक्ष्य पूरे कर लें, समीक्षा दोबारा होगी। बैठक के पश्चात ए.सी.एस. ने सामान्य अस्पताल का दौरा कर प्रसूती गृह व एमरजेंसी तथा प्रसूति के समय कौन-कौन सी जरूरी बातें ध्यान रखनी चाहिए, उन लिखी हुई हिदायतों को भी देखा।
बॉक्स
एसीएस धीरा खंडेलवाल को बैठक में एसडीएम प्रदीप कौशिक ने जानकारी दी कि इंद्री नगरपालिका क्षेत्र सितम्बर 2017 में आवारा पशु मुक्त क्षेत्र घोषित हो चुका है। इस अवधि में नगरपालिका ने 96 नंदी पकड़े,जिनमें से 83 नंदी भादसों व 13 नंदी भोला खालसा में छोड़े गए। आवारा पशु मुक्त क्षेत्र घोषित होने के उपरांत भी नगरपालिका इंद्री में आवारा पशु की कोई सूचना अब तक नहीं मिली,फिर भी नगर पालिका द्वारा एक अतिरिक्त माध्यम उपलब्ध करवाया जा रहा है, यदि किसी व्यक्ति को नगरपालिका सीमा में कोई आवारा पशु घूमता दिखाई देता है तो वह इस बारे ह्यष्ह्म्द्बठ्ठस्रह्म्द्बञ्चद्दद्वड्डद्बद्य.ष्शद्व पर सूचित करें ताकि शहर को आवारा पशुओं से मुक्त रखा जा सके।
—————————————————————–