ब्राह्मण धर्मशाला में ब्राह्मण सम्मेलन का आयोजन
September 13th, 2021 | Post by :- | 145 Views

होडल,(मधुसूदन भारद्वाज), जिला ब्राह्मण सभा पलवल तथा पलवल ब्राह्मण सभा के संयुक्त तत्वाधान में भगवान परशुराम मार्ग स्थित ब्राह्मण धर्मशाला में ब्राह्मण सम्मेलन का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला ब्राह्मण सभा फरीदाबाद के अध्यक्ष पं. बृजमोहन वत्स ने की तथा संचालन सभा के महासचिव विष्णु गौड़ तथा प्रवक्ता वीरेंद्र शर्मा ने संयुक्त रूप से किया। ब्राह्मण सम्मेलन में हरियाणा ब्राह्मण सभा प्रदेश अध्यक्ष पं. जिले सिंह पिचौलिया,योगेश गौड़, पूर्व विधायक टेकचंद शर्मा, लेखराज शर्मा, सुरेंद्र शर्मा बबली, राजेश शर्मा, इंद्रपाल शर्मा, महेंद्र शर्मा, मिश्री लाल शास्त्री, तुहीराम भारद्वाज, शंभू दयाल शर्मा, प्रभु दयाल शर्मा, तेज प्रकाश भारद्वाज, वेदराम शर्मा, डॉ. ओमवीर शर्मा, आजाद पाठक, श्रवन शर्मा, पवन शर्मा उर्फ जोंटी, चाणक्य शर्मा, मोतीराम शर्मा, देवी प्रसाद शर्मा, नरेंद्र शर्मा, बृजेश शर्मा, सुशील शर्मा, संजय कौशिक, राहुल दीक्षित, देवांशु गौड़, गिर्राज शर्मा, धर्मवीर शर्मा, श्याम भारद्वाज, अरुण शर्मा, राजवीर शर्मा, दिनेश शर्मा, तथा मोतीराम शर्मा आदि ने सामाजिक कुरीतियों की रोकथाम के संदर्भ में अपने विचार रखे कथा समाज हित में लिए गए निर्णयों की पालना के लिए गांव- गांव जाकर जागरूक करने की रणनीति बनाई। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति समाज द्वारा निर्धारित सामाजिक नियमों की अवहेलना करता है तो ऐसी स्थिति में समाज के गणमान्य व्यक्ति उसे समझा कर इन नियमों की पालना कराएंगे। ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष अमन भारद्वाज एवं जिला ब्राह्मण सभा पलवल के अध्यक्ष पं. धर्मचंद शर्मा सीहौल ने सभी वक्ताओं का धन्यवाद किया। इस अवसर सर्वसम्मति से समाज हित में निम्नलिखित निर्णय लिए गए।

1. शादी, लगन- सगाई, कुआं पूजन एवं अन्य सभी मांगलिक कार्यक्रम दिन में आयोजित करना।
2. डी.जे. पर पूर्णतया पाबंदी तथा ई- निमंत्रण को मान्यता।
3.गोद रस्म में लड़की की गोद में एक डिब्बा मिठाई एवं अधिकतम एक सौ एक रुपए का शगुन।
4. किसी भी प्रकार के शगुन के लिए अधिकतम राशि एक सौ एक रुपए तथा खर्चे के लिए अधिकतम राशि ₹2100
5. बारातियों की अधिकतम संख्या 100 एवं कन्या पक्ष की ओर से लगन- सगाई पर 31 अतिथियों की अनुमति।
6. लड़की की गोद भराई रस्म में वर पक्ष की ओर से केवल 11 व्यक्तियों की अनुमति जिसमें महिला एवं पुरुष दोनों शामिल हैं।
7.दहेज, छोचक एवं अन्य किसी शगुन के सामान की सूची न पढ़ना।
8. बारात में वर पक्ष की ओर से केवल एक बैंड- बाजा (21आदमियों की सीमित संख्या) की व्यवस्था।
9.अंतिम संस्कार के समय चादर अथवा धोती की जगह हवन- सामग्री अथवा घी आदि ले जाना।
10. रस्म पगड़ी में केवल सफेद पगड़ी का प्रयोग तथा पगड़ी की लंबाई अधिकतम 7 गज।
11. यदि माता की मृत्यु हुई है तथा पिता जीवित हैं तो ऐसी स्थिति में पगड़ी रस्म का आयोजन न करना।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review