तीन सुत्रीय मांगों को लेकर आमाबेड़ा में सातवें दिन भी जारी रहा धरना प्रदर्शन।
September 1st, 2021 | Post by :- | 209 Views

कांकेर -: अंतागढ को जिला और आमाबेड़ा को ब्लाक का दर्जा देने समेत क्षेत्र को सूखाग्रस्त घोषित करनें के मांग को लेकर 90 गांव के ग्रामीण चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिए हैं। आज सातवें दिन भी क्षेत्र के प्रत्येक गांव से दस दस लोगों नें धरना स्थल में उपस्थिति देते क्षेत्र के समाज प्रमुखों रामेश्वर मण्डावी, मनऊ गोटा, देवेन्द पटेल, रानु मण्डावी एवमं मानिक जैन के नेतृत्व में नारे बाजी करते धरना धरना प्रदर्शन किए। इस दौरान ग्रामिणों ने एक स्वर में कहा कि जब तक अंतागढ़ को जिला एवं आमाबेड़ा को ब्लाक का दर्जा नहीं मिलता तब तक आंदोलन चलता रहेगा, धरना दे रहे ग्रामिणों ने कहा कि इन मांगों को 90 गांव के ग्रामीण शासन प्रशासन को पत्र के माघ्यम अवगत भी करा चुके हैं। अंतागढ़ को जिला बनाए जाने से आमाबेड़ा, कोयलीबेड़ा, दुर्गुकोंदल, और भानुप्रतापपुर 50-60 किमी के दायरे में आ जाएगें यदि भानुप्रतापपुर को जिला बनाया गया तो आमाबेड़ा उपतहसिल अन्तर्गत आने वाले अति सुदुरांचल क्षेत्रों के रूप में पहचानें जाने वाले छःपंचात जो जिला मुख्यालय कांकेर की दुरी से परेशान हो कर नारायणपुर जिला में सामिल होने का ईच्छा जता चुके हैं उन्हें और ज्यादा दुरी सफर करनें का परेशानी थोपा जाएगा। जबकि यदि अंतागढ़ को जिला बनाया जाता है तो आमाबेड़ा, कोयलीबेड़ा, पखांजुर, दुर्गुकोंदल, भानुप्रतापपुर के बिच की औसतन दुरी 50-60 किमी की होगी इस लिए अंतागढ़ जिला के लिए अच्छा जगह होगा। लेकिन शासन प्रशासन उनकी मांगों को अब तक अनसुना कर रहा है, आज सातवें दिन भी किसी प्रकार का अश्वासन नहीं दिया गया ऐसे में यह आन्दोलन और लम्बा एवं काफी विकराल रुप ले सकता है

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review