संप्रेषण कला विषय पर विद्यार्थियों को किया संबोधित
September 26th, 2019 | Post by :- | 260 Views

पिंजौर (रोहित शर्मा) । राजकीय महाविद्यालय कालका में प्लेसमेंट सेल और अंग्रेजी विभाग के संयोजन से एक व्याख्यान का आयोजन किया गया। प्रस्तुत कार्यक्रम अंग्रेज़ी विभागध्यक्षा प्रो० डॉ० सरबजीत कौर, प्रो० मीनू, प्रो० गीतांजलि और प्रो० यशवीर के मार्गदर्शन और दिशानिर्देशन में किया गया। प्रस्तुत कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज प्राचार्य कुसुम आध्या ने की। प्रोफेसर डॉ बिंदु ने बताया कि प्रस्तुत कार्यक्रम में मुख्य वक्ता पंजाब यूनिवर्सिटी अंग्रेज़ी विभाग के वरिष्ठ प्रो० अक्षय कुमार रहे। प्रो० अक्षय कुमार ने संप्रेषण विषय पर विद्यार्थियों को बहुत रोचक तरीके से समझाया। प्रो० अक्षय कुमार ने कहा की आज के युग मे इफेक्टिव कम्युनिकेशन या सही तरीके से संपर्क करना बहुत ज़रूरी है, संप्रेषण कला के तीन रूप है – लिखना, बोलना या इशारे करना। हमे अपने में आत्मविश्वास रखना चाहिए। संप्रेषण कला अभ्यास करने से भी आती है। किसी भी सामाजिक या प्रोफेशनल वातावरण में ये विकसति हो सकती है। बातचीत करते समय दूसरे व्यक्ति की आंखों में देखने से इंटरेक्शन ज्यादा सफल होती है। अपने फेस पर एक्सप्रेशन रखें। किसी को नकारात्मक संदेश देने के लिए हमारे शब्द व हाव-भाव भी गुस्से के होने चाहिए। हमे अपने अंदर रचनात्मक भाव और विचार रखने चाहिए। हमे शब्दो का सही उच्चारण करना चाहिए। हमे धारा प्रवाह बोलने की कोशिश करनी चाहिए। अंग्रेज़ी विभागध्यक्षा प्रो० डॉ० सरब बजीत कौर ने कहा कॉम्युनिकेशन द ह्यूमन कनेक्शन इस द की टू पर्सनल एंड कैरियर सक्सेस। प्रस्तुत कार्यक्रम को सफल बनाने में वरिष्ठ प्रो० राकेश गोयल का विशेष यसंप्रेषणगदान रहा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।