HIGH WAY 248 A : सैकड़ों युवाओं ने नगीना कॉलेज से बड़कली चौक तक रैली निकालकर जताया रोष
September 25th, 2019 | Post by :- | 82 Views

मेवात (सद्दाम हुसैन) मेवात क्षेत्र की सबसे पुरानी मांग गुरुग्राम-नगीना वाया फिरोजपुर झिरका-अलवर हाईवे को चौड़ा करने की मांग को लेकर युवाओं ने हाईवे नंबर 248ए के किनारे मानव श्रंखला बनाकर प्रदर्शन किया। इसके बाद नगीना काॅलेज से बड़कली चौक तक नारेबाजी करते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग को चार लेन एवं छह लाइन करने की मांग रखी।

हाथों में राष्ट्रीय ध्वज लेकर युवाओं के अलावा ग्रामीण भी अपना रोष जताने के लिए अभियान में शामिल हुए। मेवात आरटीआई मंच के संयोजक राजुद्दीन ने कहा कि पिछले 5 साल में 1300 लोगों की मौत हो चुकी है। इस खूनी नेशनल हाईवे पर रोजाना दुर्घटनाएं हो रही है इसका बड़ा कारण हाईवे की चौड़ाई कम है। उन्होंने कहा कि जितने भी सरकारें रही हैं उन्होंने मेवात क्षेत्र के साथ दोगुला व्यवहार किया है जबकि यह नेशनल हाईवे बहुत पुराना है फिर भी इसे फोरलेन या छह लेन नहीं किया गया है। इसके साथ के जितने भी हाईवे थे उनका चौड़ीकरण हो चुका है। जो लोग सड़क दुर्घटना में मारे जा रहे हैं उनके लिए सरकार जिम्मेदार है। अगर हाइवे को चौड़ा हो जाए तो दुर्घटनाएं नहीं होंगी क्योंकि गुरूग्राम से नूंह तक फोरलेन बन चुका है और वहां सालभर में केवल दो-चार दुर्घटना ही होती है।

जितनी भी सड़क दुर्घटना हो रही है उनमें मौतों का आंकड़ा इसलिए भी ज्यादा बढ़ रहा है क्योंकि नजदीक कोई ट्रामा सेंटर नहीं है। दिल्ली तक पहुंचते-पहुंचते अधिकतर घायलों की जान चली जाती है। राजुद्दीन बताया कि 3 नवंबर 2008 को कांग्रेस की तत्कालीन यूपीए सरकार ने एक पत्थर लगाया था लेकिन हाइवे का चौड़ीकरण नहीं किया। उन्होंने बताया कि पिछले साल हरियाणा दिवस पर  सात दिन तक हाइवे को चौड़ा करने के लिए धरना दिया गया था। सब सरकार की तरफ से केवल आश्वासन मिला था।

राष्ट्रीय राजमार्ग को चौड़ा कराने के लिए प्रदर्शन करते युवा गण

इस मांग को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष कई बार उठाया गया उन्होंने यह कहकर मांग को टाल दिया कि हम एक्सप्रेस हाईवे बना रहे हैं अब इसे चौड़ा करने की आवश्यकता नहीं। लेकिन हकीकत यह है कि इस हाईवे पर हजारों-लाखों की तादाद में ट्रैफिक चल रहा है और रोजाना जाम लगता है। पूर्व छात्र नेता अफजल हुसैन व प्रधान मौसम खान बड़कली का कहना है कि यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार हाईवे नंबर 248ए को चौड़ा नहीं कर देती। रोजाना किसी न किसी परिवार से सड़क दुर्घटना में अर्थी उठ रही है लेकिन यहां के नेताओं को कोई फर्क नहीं पड़ रहा। इस विधानसभा चुनाव में ऐसे नेता को वोट देना है जो हाईवे की मांग को विधानसभा में उठाए और इस हाइवे को चौड़ा कराए।

राष्ट्रीय राजमार्ग को चौड़ा कराने के लिए प्रदर्शन करते युवा गण

इस आंदोलन में सामाजिक संगठन गालिब मौजी खान फाउंडेशन, रोड केयर अभियान, जागो चलो, मेवात आरटीआई मंच, छात्र संगठन व अन्य समाजसेवी व युवाओं का भी भरपूर सहयोग रहा। इस बात का समर्थन अफजल हुसैन जलालपुर, हक्कू सिंगरिया, इरशाद खान सिंगार, मंजूर घागस, राहुल मस्तान, आसिफ दिहाना, इरशाद नगीना, रियाज जहटाना, शाहरुख टांई, हसीन मालब, रमता खानपुरघाटी, शेर मोहम्मद जलालपुर, साहिब रानिका, कासिम झिमरावट, वसीम महूं जलालपुर, मुबारिक अली शिकरावा, इंजमाम, सादिक सिंगारिया, अब्बास नूर, सपात झारपडी, आदिल बिसरू, जबेर मांडीखेडा, इरा खान नई के अलावा मेवात क्षेत्र के सैकड़ों की संख्या में युवा गण मौजूूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।