हरियाणा में भी छाया खुशियों का गुब्बार–हॉकी टीम में आधे से अधिक बेटियां हरियाणा प्रदेश की।
August 3rd, 2021 | Post by :- | 254 Views

अम्बाला :अशोक शर्मा।
हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने हॉकी के खेल में देश की बेटियों की आस्ट्रेलिया की हॉकी टीम पर जीत को लेकर बधाई देते हुए कहा कि देश की जाबांज बेटियों ने विश्व चैम्पियन रही आस्ट्रेलिया को हराकर एतिहासिक जीत दर्ज की है। बेटियों ने नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है। इसके लिये सभी बधाई की पात्र हैं। जापान के टोकियो में ओल्मपिक खेलों में इस प्रकार की विजयी पताका फहराना अन्य खिलाडिय़ों के लिये भी अनुकरणीय है। खेल के क्षेत्र में उनके रचनात्मक और सृजनात्मक दृष्टिïकोण की जितनी प्रशंसा की जाये, वह कम है। विज अपने निवास स्थान पर खेल सम्बन्धी विषय को लेकर बात कर रहे थे।

विज ने कहा कि बेटियों ने देश का गौरव बढ़ाया है। शुरू से हरियाणा प्रदेश का खेलों में दबदबा रहा है। ओल्मपिक हों, एशियाड हो या फिर कॉमनवैल्थ गेम हो, हरियाणा के खिलाडिय़ों ने हमेशा ही अपनी उपस्थिति का अहसास करवाया है। पुरूषों की हॉकी टीम ने भी ब्रिटेन की टीम को धराशाई करके 49 साल बाद सेमिफाईनल में प्रवेश किया। ये खिलाडिय़ों के साथ-साथ देशवासियों के लिये बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने पुरूष हॉकी टीम के खिलाडिय़ों को भी शाबाशी और बधाई दी। पी.वी. सिंधु द्वारा बैडमिंटन में कांस्य पदक अर्जित करने के चलते बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि इसमें कोई दोराय नही कि बेटियां भी बेटों की तरह हमारी आन-बान और शान हैं। देश को पहला पदक दिलाने वाली मीरा बाई चानू भारोतोलक भी हम सबके लिये प्रेरणा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।

उन्होंने कहा कि खेल हमारी प्राचीन धरोहर है। इतिहास के झरोखे में झांक कर देखा जाये तो पता चलता है कि विभिन्न प्रकार के खेलों में हम हमेशा ही आगे रहे हैं। हरियाणा सरकार ने खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित और उत्साहित करने के लिये ईनामो की बौछार कर रखी है। ओल्मपिक में स्वर्ण पदक विजेताओं को 6 करोड़ रुपये, रजत पदक विजेताओं को 4 करोड़ जबकि कांस्य पदक विजेता को 2.5 करोड़ रुपये देने का प्रावधान है। ओल्मपिक एवं पैरालम्पिक खेलों के लिये क्वालीफाई करते ही खिलाड़ी को तैयारी के लिये पांच लाख रुपये की राशि एडवांस में देने का सरकार ने निर्णय लिया है।

उन्होंने यह भी कहा कि योग को बढ़ावा देने के लिये 1000 आयुष सहायक और 22 आयुष कोच के पद भी स्वीकृत किये गये हैं। राज्य स्तरीय स्कूली खिलाडिय़ों की डाइट राशि 125 रुपये से बढ़ाकर 200 रुपये प्रतिदिन तथा राष्टï्रीय स्तर के खिलाडिय़ों की डाइट राशि 200 से बढ़ाकर 250 रुपये प्रतिदिन की गई है। प्रदेश के सभी गांवों में योग और व्यायामशालाएं खोलने के लक्ष्य के चलते 511 व्यायामशालाएं शुरू हो चुकी हैं। लगभग 600 का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है तथा 26 खेल स्टेडियम निर्माणाधीन है। आने वाले समय में खिलाड़ी रूचि अनुसार अपने खेल में इन सुविधाओं के चलते बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अम्बाला छावनी में भी करोड़ों रुपये की लागत वार हीरोज मैमोरियल स्टेडियम का निर्माण किया जा रहा है। इस स्टेडियम के बनने से सम्बन्धित खेल में रूचि रखने वाले खिलाड़ी अपनी रूचि अनुसार प्रतिभा निखार सकेंगे।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review