Lost Found Person, राजस्थान पुलिस और इटावा के यूथ पावर ग्रुप का संयुक्त प्रयास
September 25th, 2019 | Post by :- | 101 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । यह घटना केवल एक लापता विमंदित युवक के अपने परिवार से मिलने की साधारण घटना नहीं है। बल्कि समाज में स्थापित होते नये आयामों की कहानी है। यह घटना ना केवल समाज के हर अंग की उपयोगिता का अहसास कराती है। बल्कि पुलिस और सरकारी कर्मचारियों के प्रति आम जनता के मन में व्याप्त नकारात्मक छवि को भी बदलती है। यह घटना समाज को संदेश देती है कि यदि एकजुट होकर किसी की भलाई के लिए संयुक्त प्रयास किये जायें और सभी अपना-अपना योगदान दें। तो समाज की तस्वीर बदलना मुश्किल नहीं होता। एक व्यक्ति की सजगता पुलिस की सक्रिय कार्यवाही सरकारी कर्मचारियों के द्वारा संचालित सामाजिक अभियानों की शक्ति और आम जनता के सहयोग से राजस्थान के कोटा जिले के इटावा कस्बे से 18 मई 2019 से लापता दिनेश राठौड़ उर्फ शक्तिमान (35 वर्ष) नामक युवक अपने परिवार से मिल पायेगा। युवक के लापता होने की सूचना इटावा के यूथ पावर ग्रुप द्वारा लाॅस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान को दी गई। इसके बाद लाॅस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान और यूथ पावर ग्रुप ने अपने तरीकों से और सोशल मीडिया के माध्यम से शक्तिमान की तलाश प्रारंभ की। लाॅस्ट फाउण्ड पर्सन बिछुड़े हुए लापता व्यक्तियों को उनके परिवारों से मिलाने का देशव्यापी सामाजिक प्रयास है। जिसका संचालन जयपुर निवासी राहुल शर्मा द्वारा किया जा रहा है। वहीं यूथ पावर ग्रुप इटावा के सक्रिय युवाओं का मजबूत सामाजिक ग्रुप है। जिसका संचालन इटावा निवासी मनीष पंकज द्वारा किया जा रहा है। राहुल शर्मा और मनीष पंकज दोनों ही सरकारी कर्मचारी हैं। शक्तिमान के लापता होने के लगभग 12 घण्टे बाद ही उसके जहाजपुर (भीलवाड़ा) में होने की सूचना एक जागरुक नागरिक डॉ. विकल्प नागर के माध्यम से प्राप्त हुई। लेकिन हाथ आने से पहले ही वह बस में बैठकर फिर से लापता हो गया। स्थानीय पुलिस ने भी उसे वहां खोजा मगर सफलता नही मिल पाई।
मंगलवार 24 सितम्बर को इटावा निवासी एक युवक की जागरुकता से शक्तिमान के निवाई (जिला टोंक) में होने की सूचना मिली। वह युवक इटावा से जयपुर जा रहा था। बस चालू थी और बस में से ही उसने निवाई में लावारिस भटकते हुए शक्तिमान के कुछ फ़ोटो वीडियो लिए और उन्हें इटावा निवासी मित्र हितेश सागर को भेजे। यह सूचना प्राप्त होते ही यूथ पावर ग्रुप और लाॅस्ट फाउण्ड पर्सन तुरन्त सक्रिय हुए और सहयोग के लिए अपने सहयोगी नागरिकों के साथ-साथ निवाई पुलिस से भी संपर्क स्थापित किया। सूचना मिलते ही प्राप्त फोटो-वीडियो के आधार पर थानाधिकारी नरेन्द्र कुमार मीणा स्वयं अपनी टीम के साथ मौके पर पहुँचे और भटकते हुए शक्तिमान को तलाशकर पुलिस थाने ले आये। पुलिस थाने में शक्तिमान को खाना भी खिलाया गया। इस पूरे मामले में पुलिस कांस्टेबल रूपनारायण सहित पूरे थाना स्टाफ का भरपूर सहयोग रहा। इसे लाॅस्ट फाउण्ड पर्सन यूथ पावर ग्रुप और राजस्थान पुलिस के संयुक्त प्रयासों का ही परिणाम कहा जायेगा कि सूचना मिलने के महज 1 घंटे के भीतर 4 महीने से लापता युवक को सुरक्षित तलाश लिया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।