एटीएम कार्ड धोखें से प्राप्त कर रुपए निकालनें वाली गैंग का पर्दाफाश
September 23rd, 2019 | Post by :- | 116 Views

सागवाड़ा (गौरव वैष्णव) प्रार्थीया शिल्पा पत्नी भगवान पाटीदार निवासी मोवाई ने थाने पर उपस्थित होकर एक रिपोर्ट दी कि मेरा भाई केवलजी पाटीदार निवासी माण्डव का बैंक ऑफ बडोदा शाखा सागवाडा गामठवाडा रोड में खाता हैं जों मुम्बई में नौकरी करता है। उसनें एटीएम कार्ड मुझें दे रखा हैं जों मैं दिनांक 26.08.2019 को सागवाडा एटीएम में पेसें निकालनें गई वहॉ दो लडकें खडें थें जिनकों मेनें एटीएम कार्ड देकर पेसें निकालनें कि बात कही व पासवर्ड नम्बर बताया कार्ड एटीएम में डालकर मुझें कहॉ कि कार्ड काम नही कर रहा हैं। ऐसा कहकर मुझें बदलें में दुसरा एटीएम पकडा दिया जों में लेकर घर चली गई। मेरा भाई

केवलजी मुम्बई सें आया व दिनांक 17.09.209 को पैसे निकालने के लियें एटीएम पर गयें तों पेसें नही निकलें व एटीएम कार्ड काम नही कर रहा था। जिस पर मैं बैंक ऑफ बडौदा शाखा सागवाडा में पहुचा जिस पर बैंक में जानें पर बैंक वालों नें मुझें बताया कि यह कार्ड आपका नही होकर सुमित पंचाल कें नाम सें है। मेरा भाई नें अपनें खातें कों चेक करवा तों उसके
खातें सें करीब 25 सें 26000 रुपए की राशि निकाली ली गई थी। मेरें भाई का एटीएम कार्ड धोखें से मुझसें बदलकर दुसरा पकडा दिया व खातें से राशि निकाल ली है।

थानाधिकारी दिलीप दान ने बताया कि उक्त मामले में विशेष टीम का गठन किया गया। भरसक  प्रयास के बाद रवि पिता धुलजी भाटीया उम्र 30 साल निवासी नन्दोड व नीरज पिता देवचन्द पंचाल उम्र 25 साल निवासी नन्दौड को बाद तफतीश गिरफतार किया जाकर गहनता से अनुसंधान किया गया। उक्त दोनों ने एटीएम पर अनपढ़ देहाती लोगों से धोखें सें एटीएम कार्ड प्राप्त कर रुपए निकालना स्वीकार किया हैं ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।