साजा आषाढ़ ,दूसरी बार वैश्विक महामारी की भेंट चढ़ा देवमिलन व आस्था से जुड़ा हिमाचल का   सदियों पुराना पर्व 
June 15th, 2021 | Post by :- | 334 Views
मण्डी   :-(दिलाराम भारद्वाज )सदियों से मनाया जाने वाला पर्व साजा आषाढ़ जो कि लोगों की आस्था से जुड़ा पर्व है खास कर देवलुओं को तो दो दशोठी के देवताओं का ये मिलन बहुत ही उत्साह का माना जाता था और इस पर्व में आम जन शामिल होते थे लेकिन इस मर्तवा भी पिछले वर्ष की भांति लोंगो की आस्था मन मे ही सिमट कर रह गई ,वैश्विक महामारी के चलते ये पर्व इस बार नहीं मनाया जा सका ।इस मे देवताओं के रथ (पालकी)एक निश्चित स्थान पर आम श्रद्धालुओं सहित दिन के समय पूजा के बाद बाजे गाजे के साथ रात्रि प्रवास के लिए दूसरे देवता से मिलन को जाते है और सांध्य समय ये मिलन होता है और भक्तों में एक नई ऊर्जा का संचार होता है और सभी अपनी मनोकामना की देवताओं से प्रार्थना करते है और आने वाली साल फसल व सभी के सुख की कामना की जाती है ।

आप अपने क्षेत्र के समाचार पढ़ने के लिए वैबसाईट को लॉगिन करें :-
https://www.lokhitexpress.com

“लोकहित एक्सप्रेस” फेसबुक लिंक क्लिक आगे शेयर जरूर करें ताकि सभी समाचार आपके फेसबुक पर आए।
https://www.facebook.com/Lokhitexpress/

“लोकहित एक्सप्रेस” YouTube चैनल सब्सक्राईब करें :-
https://www.youtube.com/lokhitexpress

“लोकहित एक्सप्रेस” समाचार पत्र को अपने सुझाव देने के लिए क्लिक करें :-
https://g.page/r/CTBc6pA5p0bxEAg/review