सर्व समाज कल्याण सेवा समिति ने लगाया वैक्सीनेशन शिविर, शिविर में 270 लाभार्थियों को लगाई वैक्सीन
June 10th, 2021 | Post by :- | 161 Views

कुरुक्षेत्र। सर्व समाज कल्याण सेवा समिति द्वारा वीरवार को दर्राखेड़ा स्थित पंचायती धर्मशाला में वैक्सीनेशन शिविर लगाया गया। समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामेश्वर सैनी ने बताया कि समिति द्वारा यह तीसरा वेक्सीनेशन शिविर है।

शिविर में 18 से 44 वर्ष तक के 270 लाभार्थियों का टीकाकरण किया गया। शिविर में कृष्णा गेट थाना प्रभारी सुनील वत्स बतौर मुख्यतिथि पहुंचे। मुख्य अतिथि सुनील वत्स का शिविर में पधारने पर समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामेश्वर सैनी, संरक्षक नरेश सैनी, मीडिया प्रभारी तरुण कुमार, समाजसेविका अविनाश कौर व सुशील शर्मा ने स्वागत किया। मुख्यतिथि सुनील वत्स ने कहा कि कोविड-19 हिदायतों की पालन करने एवं वैक्सिनेशन करवाने से ही कोरोना संक्रमण की रोकथाम संभव है। कोरोना की दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित एवं प्रभावी है। ऐसे में सभी नागरिकों को टीकाकरण के लिए स्वेच्छा से आगे आना चाहिए। उन्होंने सभी लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए हमें न केवल खुद सावधानी बरतनी होगी, बल्कि दूसरे लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करना होगा। समिति के संरक्षक नरेश सैनी ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अपनी व दूसरों की सुरक्षा के लिए मास्क जरूर पहनें। दिन में कई बार साबुन व सैनिटाइजर से हाथ साफ करें। मीडिया प्रभारी तरुण कुमार ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह छींकते समय नाक और मुंह को अच्छी तरह से ढकें। भीड-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। कोरोना स्ट्रेन में बुजुर्गो का विशेष ध्यान रखें। घर पर हल्का व्यायाम व योग करें। अपनी निर्धारित दवाएं नियमित रूप से लें।

शिविर के संचालन में वरिष्ठ नागरिक दर्शन लाल सैनी, कन्नुप्रिय, अविनाश कौर, पुनीत सेतिया, चिराग सैनी, मुख्य तकनीकी अधिकारी कर्मवीर सैनी, अभिषेक, भावना, जसबीर सिंह इशहाक, संदीप कुमार, मामराज बैरागी, रविन्द्र कश्यप, सौरभ, प्रदीप ने सहयोग किया। शिविर में कृष्णा नगर गामड़ी सीएचसी प्रभारी डॉ प्रदीप के निर्देशन में एएनएम अंशुला, पिंकी ने टीकाकरण किया व आशा वर्कर इंदू, सक्षम युवा कृष्ण, मुकेश ने सहयोग किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।