*प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के जांच दल को सिलेगर से 3km पहले रोका गया तीन किलोमीटर पहले तर्रेम थाना में पूरी टीम धरने पर बैठी*
June 4th, 2021 | Post by :- | 154 Views

*प्रशासन से मांग है कि सभी दलों को जाने दिया गया तो आम आदमी पार्टी को क्यों रोका गया – कोमल हुपेंडी*

बीजापुर के सिलेगर में फायरिंग के दौरान 3 ग्रामीणों की मृत्यु और दर्जनों घायल ग्रामीणों का मामला सामने आया है ।जिसकी मामले की जांच और पूरी जानकारी लेने हेतु केन्द्रीय नेतृत्व आम आदमी पार्टी के निर्देशानुसार आम आदमी पार्टी की पांच सदस्यीय टीम 22 मई को सिलगेर के लिए निकली थी जिसे प्रशासन ने जाने नही देते हुए कोड़ेंनार पुलिस थाना में रोक दिया ।

इसी संदर्भ में प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में जांच टीम जिसमे घनश्याम चंद्राकर प्रदेश उपाध्यक्ष, देवलाल नरेटी प्रदेश सह संगठन मंत्री,संतोष देवांगन नगरपालिका उपाध्यक्ष दल्ली राजहरा,दंति पोयम पूर्व विधायक प्रत्याशी चित्रकोट सहित अन्य लोगों की टीम आज दंतेवाड़ा से सिलगेर के लिए निकलेगी।

बस्तर जिला अध्यक्ष तरुणा बेदरकर ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष स्वयं वँहा की परिस्थितियों को समझेंगे और मृतक परिजनो से मुलाकात करेंगे।
बीजापुर के सिलेगर में आम आदमी पार्टी की टीम पहुँच कर ग्रामीणों से बात चीत करना चाहती है और सिलेगर मामले से जुड़े हालातों को जानने का प्रयास करेगी।जिस प्रकार से बीजापुर का मामला सामने आया है उसमें सैकड़ो ग्रामीण कैम्प के विरोध में लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।और ग्रमीणों के ऊपर फायरिंग होने पर जंहा उन्हें न्याय मिलना चाहिए उसके जगह पर 8 ग्रामीणों के ऊपर प्रशासन का मुकदमा और आंदोलन खत्म करने हेतु लगातार प्रेसर बनाया जा रहा है।जो आज हालात बस्तर के बीजापुर की देखने को मिल रही है वो बहुत ज्यादा की व्याकुल करने वाली है ।एक और घेराबंदी दूसरी ओर ग्रामीणों का विरोध ।मामला काफी गम्भीर दिखाई दे रही है ।इसी सब को मद्देनजर रखते हुए पुनः प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के नेतृत्व में मामले के विस्तृत जानकारी बात चीत करके ली जाएगी और पूरे मामले की गहन जांच करते हुए एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी केंद्रीय टीम को सौंपा ।जाएगा।प्रदेश और केन्द्रीय नेतृत्व इस दिए रिपोर्ट के माध्यम से आगे आंदोलन की रणनीति तय करेगी।

अभी अभी प्राप्त जानकारी के अनुसार कोमल हुपेंडी ने फोन पर बताया कि हमें सिलगेर जाने से रोका गया है,तीन किलोमीटर पहले तर्रेम थाना में हम धरने पर बैठे हुए हैं।हमने मौके पर प्रशासन से लिखित में मांग की है कि प्रशासन हमें सिलगेर जाने दे अथवा सुरक्षा देकर सिलगेर तक पहुंचाए,ताकि हम पीड़ित आदिवासी परिवारों से मिल सकें और घटना की वास्तविकता प्रदेश की जनता के सामने रख सकें।
प्रशासन जब तक हमें सिलगेर जाने नहीं देती तब तक हम तर्रेम थाने के सामने धरने पर बैठे रहेंगे।*
*धरने पर कोमल हुपेंडी के साथ प्रदेश सह संगठन मंत्री देवलाल नरेटी,यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष तेजेन्द्र तोड़ेकर,पार्टी नेता एवं दल्लीराजहरा नगरपालिका उपाध्यक्ष संतोष देवांगन,चित्रकोट विधानसभा के प्रभारी समीर खान व चित्रकोट विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी दंती पोयाम धरने पर बैठे हुए हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।