चर्चाओं के साथ संपन्न हुआ रोटरी का स्थापना समारोह
September 23rd, 2019 | Post by :- | 248 Views

अम्बाला,बराड़ा,(जयबीर राणा थंबड़)
गत दिनों बराड़ा में अंतर्राष्ट्रीय संस्था रोटरी क्लब की अंबाला इण्डस्ट्री एरिया की शाखा द्वारा बराड़ा रोटरी क्लब का स्थापना समारोह संपन्न हुआ| स्थापना के साथ ही रोटरी क्लब का यह कार्यक्रम चर्चाओं में आ गया| एक निजी पैलेस में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में अव्यवस्था का पूरी तरह से बोलबाला रहा| कार्यक्रम के दौरान मंच पर विराजमान आयोजकों द्वारा उपस्थित मेहमानों को संबोधित किया गए संबोधन व संदेश को भारी शोरगुल के चलते कार्यक्रम में आए हुए अतिथियों को समझने में थोड़ी असहजता अनुभव हुई| उपस्थित मेहमान इस बात से अनभिज्ञ ही रहे कि आखिर रोटरी क्लब का जो यह स्थापना बराड़ा में आज हुई है इसका मुख्य उद्देश्य क्या है और किस प्रकार से यह समाज के लिए कल्याणकारी होगी| मंच से बोलने वाले रोटरी के अधिकारियों और आयोजकों का भी समाज के गणमान्य व्यक्तियों से कोई सीधी पहचान नहीं हो पाई की किस व्यक्ति को क्या पद सौंपा गया है और वह समाज के लिए किस प्रकार से उत्तरदायी होगा| इस कार्यक्रम में एडीजीपी डॉ आर सी मिश्रा अपने व्यस्तता के चलते कार्यक्रम में बहुत देरी से पहुंचे और उनके आते ही कार्यक्रम को आनन-फानन में शुरू किया गया| जहां एक और सरस्वती वंदना व स्वागत गीत गाए जा रहे थे वही रोटरी क्लब द्वारा क्षेत्र के स्कूलों के अध्यापकों व छात्रों को सम्मानित किया जाना आरंभ कर दिया| मंच पर बिखरी ऐसी अव्यवस्था को देखते हुए मुख्य अतिथि ने भी थोड़ी असहजता दर्शाई परंतु आयोजकों द्वारा उनकी असहजता को नजरअंदाज करके अपने कार्यक्रम को सुचारू रूप से जारी रखा| इस कार्यक्रम में क्षेत्र के विभिन्न स्कूलों के अध्यापकों व छात्रों को सम्मानित करने के लिए रेवड़ियो की तरह स्मृति चिन्ह बांटे गए, हालांकि मुख्य अतिथि को भी यह मालूम नहीं था कि वह जिन अध्यापकों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित कर रहे हैं आखिर उन्होंने अपने क्षेत्र में ऐसी क्या उपलब्धि अर्जित की है कि उन्हें रोटरी क्लब द्वारा सम्मान दिया जा रहा है| कार्यक्रम में आए हुए मेहमानों में भी इस बात की चर्चा रही कि फला फला अध्यापक व छात्र को आखिर किस उपलब्धि के लिए सम्मानित किया गया, जबकि अपने क्षेत्र में उनकी कोई विशेषता नहीं है, जबकि साथ ही यह भी चर्चा रही कि यह कार्यक्रम समाजसेवी संस्था रोटरी क्लब का ना होकर निजी स्कूलों द्वारा इकट्ठे होकर अध्यापक सम्मान समारोह जैसा प्रतीत हो रहा है| कुल मिलाकर कार्यक्रम में “अंधा अंधा बांटे रेवड़ियां, मुड़-मुड़ अपनों को दे” वाली कहावत चरितार्थ हुई| इतना ही नहीं इस कार्यक्रम में मीडिया कर्मियों के बैठने कि कोई व्यवस्था नहीं थी और ना ही मीडिया कर्मियों को इस कार्यक्रम की कोई फोटो लेने दी गई और सबसे बड़ी हैरतअंगेज कब बात यह रही कि इस कार्यक्रम में रोटरी क्लब के प्रेस सचिव द्वारा पत्रकारों के साथ भी भेदभाव किया गया|
इस कार्यक्रम में यह भी चर्चा रही कि रोटरी क्लब की स्थापना के साथ इस क्लब में मेंबर बनने के लिए लोगों से भारी भरकम राशि चंदे के रूप में ली गई है कुल मिलाकर आज यह स्थिति है कि आने वाले समय में रोटरी क्लब बराड़ा हल्का के लिए क्या कार्य करेगा यह तो भविष्य के गर्भ में है परंतु इतना अवश्य है कि रोटरी क्लब के अधिकांश सदस्य समाज सेवा की आड़ में अपनी सस्ती लोकप्रियता के लिए कार्य कर रहे हैं और इसी प्रकार की और भी चर्चाओं का बाजार गर्म है |

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।