धान के सीजन में 8 नए बिजली सब स्टेशनों के चालू होने से कृषि व घरेलू उपभोक्ताओं को मिलेगी कट से राहत : अधीक्षक अभियंता सुधाकर तिवारी।
May 25th, 2021 | Post by :- | 175 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। इस वर्ष ग्रीष्म ऋतु में शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी बिजली सप्लाई व्यवस्था को बेहतर बनाने पर काम कि या जा रहा है। इसी कड़ी में धान के सीजन के दौरान 33 केवी के 8 नए बिजली सब चालू किए जाएंगे। बिजली निगम इन सब स्टेशनों को जल्द से जल्द तैयार करवाने की कोशिश में है। इनमें से अधिकतर पॉवर सब स्टेशन 30 जून तक तैयार किए जाएंगे। यह जानकारी अधीक्षक अभियंता सुधाकर तिवारी ने दी।

उन्होंने बताया कि धान के सीजन में बिजली खपत यकायक बढ़ जाती है, ऐसे में अधिक लोड होने पर अघोषित कट लगने लगते है। लेकिन इस बार धान के सीजन में 8 नए बिजली सब स्टेशनों से बिजली की सप्लाई होगी और एग्रीकल्चर फील्ड मेंं निर्बाध बिजली मिल सकेगी। बिजली निगम की ओर से जिले में बिजली की सप्लाई को और सुदृढ़ बनाने के लिए नए बिजली सब स्टेशन तैयार करवाए जा रहे है।

उन्होंने बताया कि 33 केवी के नए सब स्टेशन शुरू होने से धान की फसल में विशेष फायदा मिलेगा। लोड बंटने का कारण एग्रीकल्चर के साथ-साथ घरेलू कनेशन उपभोक्ताओं को अघोषित कटों की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योकि इन सब स्टेशनों के लगने के बाद बिजली सप्लाई व्यवस्था और सुदृढ़ हो जाएगी।

अधीक्षक अभियंता ने बताया कि बिजली निगम की ओर से लोड बांटने के लिए बिजली के नए पोल भी गाड़े जा रहे हैं, ताकि नए बिजली सब स्टेशनों से बिजली की सप्लाई का सही ढंग से डिस्ट्रीब्यूशन हो जाएं, लाइनमैन इस कार्य में लगे हंै। जबकि खेतों की लाइनों को दुरूस्त करने का काम पहले ही शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 33 केवी बिजली सबस्टेशन बीबी पुर जाटान का निर्माण कार्य जारी है 15 जून तक तैयार होने बात कही है।

इसी प्रकार 33 केवी गांगर बिजली सब स्टेशान 15 जुलाई तक तैयार किया जाएगा, गढ़ी जाटान में 33 केवी का सब स्टेशन 1 माह में तैयार हो जाएगा। इसके अलावा बांसा में 33 केवी का सब स्टेशन जुलाई तक तैयार हो जाएगा। जबकि कॉलेज रोड अंसध, ठरी, गोंदर व चकदा के बिजली सब स्टेशन 30 जून तक तैयार करने का टारगेट रखा गया है। बीबीपुर जाटान, गांगर, गढ़ी जाटान व बांसा बिजली सब स्टेशन जून व जुलाई में तैयार हो जाएंगे। इन सब स्टेशनों के शुरू होने से बिजली सप्लाई और अधिक सुदृढ़ होगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।