कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दी श्रद्धांजली, फ्रंट लाईन कोरोना वारिर्यस को किया सम्मानित
May 22nd, 2021 | Post by :- | 156 Views

होडल, (मधुसूदन भारद्वाज): पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की 30 वीं पुण्यतिथि के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजीव गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और उपमंडल नागरिक अस्पताल पहुंचकर कोरोना मरीजों, डाक्टरों,स्टाफ नर्स आदि फ्रंट लाईन कोरोना वारिर्यस का फूल मालाओं से स्वागत किया और उन्हें फेस मास्क, सेनेटाईजर व फल वितरित किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक उदयभान ने की। इस अवसर पर उदयभान,देवेश कुमार,राजेंद्र नंबरदार,सुनील मित्तल,जुबिन ठुकराल,हेतराम, हेमंत जैन,पृथ्वी सिंह,राजू फौजी, सत्तो पहलवान, भीम चेयरमैन, वीरेंद्र सिंह, योगेंद्र सागर, खेमचंद, डा सुरेश, प्रदीप कुमार, जोगिंदर सिंह, कल्लू सहित पार्टी कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजली दी। कार्यक्रम के बाद सभी पार्टी कार्यकर्ता उपमंडल नागरिक अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने फ्रंट लाईन वारिर्यस,मरीजों व स्टाफ नर्स आदि को फल, सेनीटाइज व मास्क वितरित किए। यहां पूर्व विधायक उदयभान ने कहा कि राजीव गांधी की दूरगामी सोच का परिणाम है कि आज भारत पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। पंचायत राज को सुदृढ़ करने के लिए राजीव गांधी ने पंचायतों को अधिक शक्तियां दी थी, जिस कारण आज ग्रामीण भारत का विकास हुआ है और भारतवर्ष के गांव विकसित हुए हैं। उन्होंने कहा कि 18 वर्ष के नौजवानों को वोट देने का अधिकार भी राजीव गांधी ने दिया था। उदयभान ने कहा कि इस कोरोना महामारी के खिलाफ लोगो के स्वास्थ्य की सुरक्षा में तैनात रहने वाले सभी डाक्टर, नर्स व सभी हेल्थ वर्कर बधाई के पात्र हैं और हमारा कर्तव्य बनता है कि हम सभी उनके हौंसले की प्रशंसा करें और उनका सम्मान करें। पूर्व विधायक उदयभान ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना महामारी में सरकार पूरी तरह से विफल हुई है उन्होंनेे कहा कि कोरोना केे ईलाज के दौरान सरकार उनके क्षेत्र के साथ भेदभाव कर रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।