कठूमर क्षेत्र में मोबाइल छिनने व मोटरसाइकिल चोरी की 20 घटनाओं का हुआ खुलासा।
May 21st, 2021 | Post by :- | 42 Views

कठूमर/ अशोक भारद्वाज   –     कठूमर कस्बे में गत कुछ महीनों से राह चलते मोबाइल पर बात करते लोगों से मोबाइल चुनने की दर्जनों घटित घटनाओं के बाद आखिरकार कठूमर पुलिस ने बडी मेहनत कर उस गिरोह का पर्दाफाश कर दिया। और एक नाबालिग को निरूद्व करते हुए मोबाइल छीनने की व बाईक चोरी दर्जनों वारदातों का खुलासा कर दिया पुलिस इस गैंग में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

थाना प्रभारी कमल सिंह ने बताया कि इस गिरोह के सदस्य बाइक पर आकर कठूमर कस्बे में राह चलते व्यक्ति जो मोबाइल पर बात करते हैं ,मोबाइल छीनने की वारदात करते थे, इस गिरोह ने कस्बे के बाईपास रोड मसारी रोड, अहिंसा सर्किल ,प्रधान मार्केट, नगर बस स्टैंड ,लक्ष्मणगढ़ बस स्टैंड, आदि प्रमुख स्थानों पर मोबाइल छीनने की अनेक घटनाएं की। जिससे कस्बेवासी परेशान हो गये। गई इधर कठूमर पुलिस भी लगातार मोबाइल छीनने के मामले को लेकर चिंतित हो गई। जिसको लेकर थाना प्रभारी कमल सिंह के नेतृत्व में रामफूल एएसआई ,मुरारी लाल मीणा, व कॉन्स्टेबल असलम ,अमरचंद और लोकेश कांस्टेबल का एक विशेष दल गठित किया गया ।और टीम ने वैज्ञानिक एवं तकनीकी बेस पर सूचनाएं संकलित की। और संकलित सूचना के आधार पर बाइक चोरी व मोबाइल छीनने वाले गिरोह के नजदीक पहुंचकर एक नाबालिक को निरूद्व कर लिया। जिसके कब्जे से दो मोबाइल बरामद किये।और पुलिस ने नाबालिग से पूछताछ में बाइक चोरी व मोबाइल छीनने की बीस घटनाओं में संग्लिपता स्वीकार की है। इन्होंने ये वारदातें कठूमर,खेरली,डीग, गोवर्धन आदि स्थानों पर की है

इस गिरोह का मुखिया सौरभ राजपूत निवासी तसई है । सरगना के द्वारा चोरी की गई बाइक एवं मोबाइलों का बेचान किया जाता था। गिरोह द्वारा चोरी की गई तीन बाइकों की फिरौती माखन जाट निवासी रेटा,पप्पू राजपूत व केशव तसई राजपूत द्वारा की गई ।गिरोह के अन्य सदस्य वीरू , निरंजन ,कालू वीपी,अजय राजपूत निवासी तसई सभी आरोपी फरार है ।पुलिस इनकी तलाश कर रही है। कठूमर कस्बे वासियों ने इस वारदात को खोलने पर थाना प्रभारी कमल सिंह एवं उनकी टीम का आभार व्यक्त किया गया। इस मामले में 18 मई को कस्बा निवासी संगीता जैन पत्नी प्रेमचंद जैन द्वारा मोबाइल छीनने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।