हाई रिस्क कोरोना संक्रमित घर की बजाय अस्पताल में उपचार लें : उपायुक्त हिसार
May 21st, 2021 | Post by :- | 131 Views

हिसार (लवकेशकथूरिया) हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं कोविड-19 प्रबंधन को लेकर हिसार के नोडल अधिकारी अनुराग रस्तोगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी व अन्य अधिकारियों के साथ जिले में कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल पूर्ण रूप से संचालित हो चुका है, इसलिए 65 वर्ष की आयु से अधिक के संक्रमित और ऑक्सीजन स्तर में कमी वाले मरीजों को यहां प्राथमिकता के आधार पर उपचार की सुविधा दी जाए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के प्रसार को रोकने की दिशा में योजनाबद्ध ढंग से सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए।
इस संबंध में उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने नागरिकों से आह्वान किया कि वे घरों में रहकर अपना इलाज न करें, विशेषकर वह संक्रमित जो हाई रिस्क पर है। उन्होंने कहा कि 500 बेड वाले चौधरी देवी लाल संजीवनी अस्पताल में सभी सुविधाएं उपलब्ध है, इसलिए ऑक्सीजन स्तर में कमी तथा अधिक आयु के कोरोना संक्रमित यहां निशुल्क उपचार की सुविधा लें। उपायुक्त ने कहा कि अस्पताल में पर्याप्त संख्या में बेड है और यहां डॉक्टर व अन्य स्टाफ की कोई कमी नहीं है। उन्होंने ऐसे कोरोना संक्रमित को सावधानी बरतने की हिदायत दी है जो बिना डॉक्टर की सलाह के दवाई ले रहे हैं। ऐसे भी कई मामले हैं, जिनमें एक कोरोना संक्रमित कई डॉक्टरों से राय मशवरा कर अधिक दवाइयां ले रहे हैं। कोरोना संक्रमित इंटरनेट या अन्य सोशल मीडिया पर जानकारी जुटाकर स्वयं दवाइयां ना लें।
उपायुक्त डॉ प्रियंका सोनी ने कहा कि कुछ संक्रमित ऐसे भी है जो बिना जरूरत के अपने घर पर ही ऑक्सीजन ले रहे हैं, जो सही नहीं है। यदि उन्हें ऑक्सीजन को लेकर कोई परेशानी है तो वे चौधरी देवीलाल संजीवनी अस्पताल में उपचार ले सकते हैं, क्योंकि यहां पर ऑक्सीजन की आपूर्ति की कोई कमी नहीं है। कोई भी व्यक्ति यहां ओपीडी में अपनी जांच करवा कर उपचार का लाभ ले सकता है। उपचार बिल्कुल निशुल्क है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।