पीलीभीत : महामारी काल मे आपकी छोटी से मदद किसी के लिए हो सकती सबसे बडी खुशी – महंत अवनेश कौशिक
May 21st, 2021 | Post by :- | 87 Views

पीलीभीत : महामारी काल में असहायों की मदद कर रहे महंत अवनेश कौशिक

पीलीभीत, ब्यूरो। एक तरफ पूरा देश महामाहारी काल से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओर गरीब तबके के लोगो को दो जून की रोटी जुटाना महंगा पड़ रहा है, ऐसे में समाजसेवी भी लोगो की मदद के लिए सामने आने लगे है, तो वहीं पीलीभीत के प्रसिद्ध बाला जी महाराज दरबार के महंत अवनेश कौशिक हर रोज शहर का दौरा कर लोगो को मदद पहुचाने की जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे है। कैमरे के पीछे रही समाज सेवा का कार्य कर रहे अवनेश कौशिक कई लोगो के घरो में दवा सहित जरूरत की सामग्री पहुचाते रहे है, तो कभी गरीब लोगो को ईलाज कर उनको राहत देने का काम कर रहे थे । लेकिन राहगीरों द्वारा समाजसेवा की इस मूरत का वीडियो सामने आने के बाद महन्त अवनेश कौशिक के इस सराहनीय कार्य को लेकर खूब तारीफ भी मिल रही है। जिसको लेकर महंत अवनेश कौशिक एक बार फिर सेवा को लेकर खूब वाह वाही लूटने में लगे है ।

चने बेचने वाले पर हर रोज बढ़े अधिकारियों से लेकर कई बार माननीय जन प्रतिनिधियो की भी पड़ी नजर लेकिन गरीब को किया नजर अंदाज

दरअसल टनकपुर हाइवे किनारे एक असहाय हर रोज टोकरी भर चने लेकर इस आस में बैठता है, ताकि उसके चने कोई खरीद ले और जिससे उसे कुछ पैसे मिले तो उससे अपने घर खाद्य सामग्री खरीद कर ले जाये, लेकिन उस चना विक्रेता के फटे कपड़े और बुरा हाल देख कर कोई भी उससे चने नहीं खरीदता फिर चाहे गरीब माननीय के कार्यलाय के बाहर ही चने की बिक्री का आसरा देखता हो या फिर खाद्य विभाग के दफ्तर के बाहर, लेकिन आज कुछ ऐसा हुआ कि शहर के युवा समाजसेवी महंत अवनेश कौशिक की नजर इस गरीब चना विक्रेता पर पड़ी और उसके मुठ्ठी भर चने की कीमत के बदले उससे कुछ देर बात कर उसकी जरूरत के हिसाब से रुपए देंकर उसे उसके घर जाने को कहते हुए उसे और जरूरत पड़ने पर मदद का आष्वासन दिया। फिलहाल कई दिनों से अपने चने की बिक्री की आस में बैठे इस गरीब का कुछ दिनों चूल्हा जलकर उसका घर चल जाएगा। और किसी व्यक्तितत्व की सेवा से किसी के बच्चों का पेट भी पल जाएगा । इस कहानी को समाज के बीच लाना इसलिए भी जरूरी है कि इस महामारी काल मे जरुरत मंदी तक देना ही सबसे बड़ा पुण्य कर्म है, वैसे भी इस महामारी के समय न जाने कितने लोगों ने अपनी जान गवां दी है तो इस वैश्विक महा मारी के समय मे लोगो की मदद कर पुण्य कार्य करने में सहायक बने। हो सकता है आपकी छोटी सी मदद के रूप में की गई पहल किसी के जीवन मे बड़ी खुशिया लेकर आए और आपको इससे बड़ी और उन्नति की ओर अग्रसर हों।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।