100 साल के इतिहास में किसी के जीवन में ऐसी जिम्मेवारी नहीं आई,उपायुक्तों के कोरोना महामारी में किए कार्य भावी पीढिय़ों के लिए बनेंगे मिसाल : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।
May 21st, 2021 | Post by :- | 71 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 100 साल के इतिहास में किसी के जीवन में ऐसी जिम्मेवारी नहीं आई, ऐसे जिम्मेवारी से सीखकर ही हम आने वाली पीढिय़ों को परिस्थितियों से जीतने का अनुभव सांझा कर सकते हैं। जब तक संक्रमण कम नहीं होगा तब तक चुनौती बनी रहेगी, इस चुनौती को स्वीकार करना है। संक्रमण को रोककर जीवन बचाने के साथ-साथ लोगों के जीवन को आसान करना ही हमारी प्राथमिकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीरवार को वीडियो कांफ्रैंस के माध्यम से देश के 8 प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और 60 जिलों के जिला उपायुक्तों के साथ सीधा संवाद कर रहे थे। उन्होंने देश के उपायुक्तों को कहा कि इस कोरोना महामारी को हराने के लिए आप प्रथम योद्धा हैं, कोरोना को हराने के लिए सभी चैलेंज स्वीकार किए हैं। उन्होंने कहा कि और अधिक ताकत के साथ काम करने की जरूरत है। अभूतपूर्व परिस्थितियों से निपटने के लिए ही मदद मिलती है।

उन्होंने कहा कि अभी हमारा कार्य पूर्ण नहीं हुआ है बल्कि तीसरे दौर के लिए वैज्ञानिकों द्वारा दिए गए सुझाव पर हमें और भी सतर्कता के साथ कार्य करना होगा। वैज्ञानिकों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार वैश्विक महामारी कोराना संक्रमण के तीसरे दौर में युवा और बच्चों के लिए ज्यादा चिंता जताई गई है। इसके लिए और अधिक तैयारी के साथ कार्य करना होगा।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्रियों, जिला उपायुक्तों तथा अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को इस आपदा के समय किए गए कार्यों को आने वाली पीढिय़ों के लिए बचाए रखना होगा ताकि भविष्य में कोई ऐसी वैश्विक महामारी आए तो उसके लिए यह अनुभव सांझा किए जा सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना की दूसरी वेब से लडऩे के लिए देश के सभी जिलों में प्रशासन द्वारा बेहतर तरीके से कार्य किया गया है।

उन्होंने कहा कि सभी ने इस चैलेंज को संवेदनशीलता के साथ एक चुनौती के रूप में लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के पहुंचने पर चिंता जताते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा बेहतर प्रयास के साथ इस संक्रमण पर काबू करने का बहुत अच्छा काम किया जा रहा है जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांव में मोबाइल एम्बुलेंस सुविधाएं, पंचायत भवनों, स्कूलों में आइसोलेशन सेंटर बनाने सहित ग्राम स्तर पर एएनएम, जीएनएम, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्करों और जन प्रतिनिधियों के बेहतर तालमेल बनाकर आमजन को जागरूक करके प्रशासन द्वारा बेहतर कार्य किया गया है।

उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग द्वारा लोगों को ट्रेनिंग देने सहित अनेक सराहनीय कदम उठाकर कोरोना की दूसरी वेब पर काबू करने के सराहनीय काम जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग द्वारा किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तीसरे चरण से बचने के लिए देश में वैक्सीन की सप्लाई और सुदृढ़ होगी। टीकाकरण अभियान में बहुत बड़ी सुविधा सरकार द्वारा प्रशासन को दिलवाने का प्रयास किया जाएगा।

वीडियो कांफ्रैंस के पश्चात उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए सुझाव पर अमल करते हुए और अधिक गंभीरता से कार्य करना है। उन्होंने कहा कि हमने पिछले कुछ दिनों में बेहतरीन कार्य किया है लेकिन चुनौतियां हमारे सामने अभी समाप्त नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि फिलहाल हमें शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों पर ज्यादा फोकस करना है। उपायुक्त ने निर्देश दिए कि सभी अधिकारी प्रत्येक गांव में जांच अभियान तेज करें। उपायुक्त ने जिले के 200 एमबीबीएस छात्रों को गांवों में मरीजों की ट्रेसिंग के लिए भी विस्तार से जानकारी दी।

इस मौके पर एसपी गंगाराम पुनिया, आयुक्त नगनिगम विक्रम, एसीयूटी प्रदीप सिंह, केसीजीएमसी के निदेशक डा. जगदीश दुरेजा, सिविल सर्जन डा. योगेश शर्मा उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।