बिजली युक्त तूफान तथा बिजली कड़कना जैसी घटनाओं में क्या करें तथा क्या न करें : जिला राजस्व अधिकारी श्याम लाल।
May 21st, 2021 | Post by :- | 150 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। जिला आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारी एवं जिला राजस्व अधिकारी श्याम लाल ने बताया कि बजली युक्त तूफान तथा बिजली कड़कना जैसी घटनाओं में यदि आप घर या काम पर हैं तो आपदा से निपटने के लिए अंधकार से काले पड़ते हुए आकाश या हवा की बढ़ती गति का देखें, बिजली की गडग़ड़ाहट सुनते हैं तो आप बिजली के आघात के काफी करीब हैं, मौसम के अद्यतन समाचारों तथा चेतावनी निर्देशों हेतु स्थानीय मीडिया की खबरें व देखते रहें, घर के अंदर रहें तथा अगर संभव हो तो यात्रा करने से बचें, खिड़कियों तथा दरवाजों को बंद कर लें तथा अपने घर के बाहर रखे सामानों जैसे फर्नीचर, डिब्बों इत्यादि को सुरक्षित रखें, यह सुनिश्चित करें कि बच्चे तथा जानवर घर या शैड के अंदर रहें, गैर जरूरी बिजली उपकरणों का प्लग निकाल दें, बिजली करंट की मात्रा को काफी तेजी से बढ़ा देता है, वृक्ष की लकडिय़ों या कोई अन्य मलबों को हटा दें जिससे कोई तूफानी दुघर्टना हो सकती है।

यदि अगर बाहर हैं तो तुरंत सुरक्षित आश्रय केन्द्र में जाएं तथा धातु से निर्मित वस्तुओं के प्रयोग से बचें, निम्रवर्ती क्षेत्र में आश्रय लें तथा आश्वस्त हो जाएं कि चुने हुए स्थान बाढ़ वाले न हों, बिजली के संभावित आघात से स्वयं को कम से कम जगह पर रखने के लिए दोनों पैरों को मिलाकर नीचे की ओर बैठ जाएं तथा सिर को नीचे छुकाएं, गर्दन के पीछे खड़े बाल यह संकेत कर सकते हैं कि बिजली का आघात आसन्न है, धरती पर फैलकर मत लेटें, अपने पूरे शरीर पर बिजली के बड़े निशाने पर हो सकते हैं, सभी उपयोग में होने वाली तारें, धातु के घेरों, बाड़ों, वृक्षों तथा पहाड़ी की चोटियों से दूर रहें, वृक्षों के नीचे आश्रय मत लें क्योंकि बिजली के संचालक हो सकते हैं, रबड़ के सोल वाले जूते तथा कार के टायर बिजली कड़कने के दौरान सुरक्षा प्रदान नहीं करते हैं।

यदि आप यात्रा कर रहे हैं तो हाथ साईकिल, मोटर साईकिल या खेती के वाहनों से उतर जाएं क्योंकि ये बिजली को आकृष्ट कर सकते हैं, किसी सुरक्षित आश्रय केन्द्र में चले जाएं, यदि नाव चला रहे हैं या तैर रहे हैं तो यथाशीघ्र किनारों पर जमीन पर आ जाएं तथा कहीं आश्रय लें, तूफान के दौरान अपने वाहनों में ही तब तक रूकें तब तक मदद नहीं पहुंचती या तूफान गुजर नहीं जाता, खिड़कियां बंद होनी चाहिएं, वाहन को वृक्षों तथा बिजली के तारों से दूरी बनाकर पार्क करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।