जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में खोदी गई सिवरेज बनी लोगों के लिए मुसीबत |
September 22nd, 2019 | Post by :- | 55 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट)  :-  नगर परिषद होडल की चेयरपर्सन की शिकायत के बावजूद भी शहर की सिवरेज व्यवस्था राम भरोसे हैं। जनस्वास्थ्य विभाग की तरफ़ से शहर में सिवरेज के लिए बनाए गए मैनहॉल इन दिनों लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। सिवरेज के खुले पड़े इन मैनहॉल के कारण हादसों में भी इजाफा हो रहा है। नगर परिषद चेयरपर्सन व शहर के लोगों ने कई बार जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से इन खुले पड़े मैनहॉल व बद पडी सिवरेज की लिखित शिकायतें भी की है, लेकिन इन शिकायतों के बावजूद भी जनस्वास्थ्य विभाग के कानों पर जूं तक नहीं रैंगती। जनस्वास्थ्य विभाग की इस ओर अनदेखी के कारण शहर के लोगों में भारी रोष व्याप्त है।
जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से शहर में जगह-जगह खुदाई कराकर सिवरेज व्यवस्था शुरू कराई गई थी। विभाग की यह सोच थी कि इस सिवरेज की मदद से शहर की कालोनियों व घरों के गंदे पानी को शहर से बाहर किया जा सके। विभाग ने कालोनियों व शहर की सडकों को तोडकर इस सिवरेज के कार्य को तो पूरा कर दिया, लेकिन कई जगहों पर विभाग इन सिवरेज का शुरू तक नहीं किया। विभाग की अनदेखी के चलते कई जगह सिवरेज के लिए बनाए गए मैनहॉल के ढक्कन टूटकर उन सिवरेज में गिर गए और गई जगह उन मैनहॉल की मिट्टी जमीन में धस गई।

विभाग की ओर से सिवरेज के लिए खोदे गए यह मैनहॉल के गड्ढे लोगों के लिए मुसीबत बनने लगे हैं। इस मामले की लिखित शिकायत लगभग एक सप्ताह पहले नगर परिषद होडल चेयरपर्सन आशारानी तायल ने जनस्वास्थ्य विभाग चंडीगढ को भी भेजी थी, लेकिन फिर भी स्थानीय विभागीय अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रैंगी। शहर निवासी दिनेश मित्तल, गुलशन गर्ग, कुलदीप, नरेश सौरोत, प्रदीप सौरोत, जवाहर, अनिल कुमार, ईश्वर चंद, शिव कुमार, रवि कुमार, कृष्ण कुमार के अलावा अन्य लोगों का कहना है कि जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में खोदी गई सिवरेज ने शहर का पूरी तरह से नाश करके रख दिया है। उन्होंने कहा कि कई कालोनियों में तो इस सिवरेज को अभी तक चालू भी नहीं किया गया है। इसके अलावा कई जगह सिवरेज के मैनहॉल के ढक्कन भी टूट चुके हैं और कई जगर मैनहॉल के आसपास की मिट्टी भी जमीन में धस गई है।

उन्होंने कहा कि खुले मैनहॉल के कारण आए दिन लोग उन गड्ढों में गिरकर घायल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई बार जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इस समस्या से अवगत करा दिया गया है, लेकिन इस ओर कोई ध्यान देने को तैयार नहीं है। लगता है जनस्वास्थ्य विभाग इन मैनहॉल के कारण होने वाले किसी बड़े हादसे के इंतजार में है। शहर की ठप पडी सिवरेज व्यवस्था व खुले पड़े मैनहॉल को देखकर लोगों में विभाग के प्रति रोष व्याप्त है।
क्या कहते हैं एसडीओ:- इस मामले में जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ अशोक कुमार का कहना है कि वह संबंधित जेई से बातचीत कर मौके पर भेजकर खुले पड़े मैनहॉल को बंद कराएंगे और जहां सिवरेज व्यवस्था चालू नहीं है उसे भी जल्द चालू कराने का काम करेंगे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।