जिले में पर्याप्त ऑक्सीजन, किसी को भी पैनिक होने की जरूरत नहीं- डीसी निशांत कुमार यादव।
May 16th, 2021 | Post by :- | 464 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि कोरोना महामारी का प्रकोप आए दिन बढ़ रहा है, लोगों को सावधान रहकर कोविड के नियमों की पालना करनी होगी।

जिला में कोविड का मुकाबला करने के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं, जिले के किसी भी व्यक्ति को पैनिक होने की जरूरत नहीं है। जिले में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

उपमंडल स्तर पर भी 8 सीएचसी में कोविड अस्पताल बनाए गए हैं, जहां पर ऑक्सीजन की पर्याप्ता मात्रा उपलब्ध है। अब गांव स्तर पर भी मरीजों को यह सुविधा दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि कोरोना के उपचार के लिए जिला में कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त 20 प्राईवेट अस्पतालों व सीएचसी को अधिकृत किया गया है।

जिले में 461 आक्सीजन सहित नॉन एसी बैड और 374 भरे हुए हैं तथा 68 बैड खाली हैं जबकि ऑक्सीजन सहित आईसीयू बैड 251 हैं, जिनमें से 240 भरे हुए हैं तथा 11 खाली है।

उपायुक्त ने जारी ब्यान में कहा कि रविवार तक जिले के केसीजीएमसी ऑक्सीजन के साथ नॉन आईसीयू 190 बैड हैं, जिसमें 172 भरे हुए हैं। इसी प्रकार केसीजीएमसी में ही ऑक्सीजन के साथ आईसीयू के 110 बैड हैं, जोकि भरे हुए हैं।

अमृतधारा अस्पताल चौड़ा बाजार में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 38 बैड हैं, जिसमें से 35 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 26 हैं, जिसमें से 25 भरे हुए हैं।

इसी प्रकार अर्पणा अस्पताल मधुबन में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 16 बैड हैं, जिनमें 11 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 5 हैं, जिनमें से 2 भरे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि डा. ज्ञान भूषण नर्सिंग होम करनाल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 6 बैड हैं, जिनमें से 4 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 5 हैं, जिनमें से 4 भरे हुए हैं।

ईश्वर कृपा अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 14 बैड हैं, जिनमें से 13 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 5 हैं, जोकि भरे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि करनाल नर्सिंग होम में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 8 बैड हैं, जिनमें से 6 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 10 हैं, जोकि भरे हुए हैं। पार्क अस्पताल करनाल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 18 बैड हैं, जोकि भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 32 हैं जोकि भरे हुए हैं।

रामा सुपर स्पैशिलिटी अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 8 बैड उपलब्ध हैं, जिनमें से 4 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 6 हैं, जिनमें से 2 भरे हुए हैं।

आरपी वैल्टर अस्पताल बसताड़ा में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 10 बैड हैं, जिसमें स 8 भरे हुए है तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 4 हैं,जिसमें से 3 भरे हुए हैं।

इसी प्रकार सर्वोदय अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 12 बैड हैं, जिनमें से 4 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 10 हैं जिनमें से 9 भरे हुए हैं।

श्रीराम चंद्र मैमोरियल अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 8 बैड हैं, जिनमें से 7 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 7 हैं, जोकि भरे हुए हैं। इसी प्रकार श्री सनातन धर्म मंदिर महाबीर दल करनाल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 12 बैड हैं, जिनमें से 9 भरे हुए हैं तथा 2 खाली हैं।

उन्होंने बताया कि एसएस अस्पताल करनाल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 7 बैड हैं, जोकि भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 7 हैं, जोकि भरे हुए हंै।

स्वास्तिक अस्पताल करनाल में ऑक्सीजन सहित नॉन
आईसीयू 10 बैड हैं, जिसमें से 7 भरे हुए है तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 9 हैं, जोकि भरे हुए हैं। इसी प्रकार उजाला सिग्रस अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 20 बैड हैं, जोकि भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 5 हैं जोकि भरे हुए हैं।

विर्क अस्पताल में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 37 बैड उपलब्ध हैं, जिसमें से 35 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 8 हैं जोकि भरे हुए हैं। अमर अस्पताल असंध में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 11 बैड उपलब्ध हैं, जिनमें से 3 भरे हुए हैं तथा आक्सीजन सहित आईसीयू बैड 5 हैं जिनमें से 2 भरे हुए हैं।

सीएचसी असंध में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 10 बैड उपलब्ध हैं, जिनमें से 6 भरे हुए हैं। सीएचसी घरौंडा में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 10 बैड उपलब्ध हैं, जिनमें से 5 भरे हुए हैं तथा सीएचसी इंद्री में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 10 बैड उपलब्ध हैं, जोकि खाली हैं।

इसी प्रकार सीएचसी निसिंग में ऑक्सीजन सहित नॉन आईसीयू 6 बैड उपलब्ध हैं, जोकि खाली हैं।
उपायुक्त ने बताया कि जिले में बैड की उपलब्धता जानने के लिए edishakarnal.in पोर्टल बनाया गया है। इस पोर्टल पर जाकर कोई भी व्यक्ति जिले में केसीजीएमसी व अन्य 20 अस्पतालों में बैडों की उपलब्धता की जानकारी ले सकता है, जिसका लिंक karnal.gov.in पर भी दिया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।