क्रोना पीड़ित शिक्षकों को एकांत अवकाश नही देने का शिक्षा विभाग का निर्णय दुर्भाग्यपूर्ण :हरभजन ।
May 16th, 2021 | Post by :- | 224 Views

कोरोना पीड़ित शिक्षको को एकान्त अवकाश नहीं देने का शिक्षा विभाग का निर्णय दुर्भाग्यपूर्ण – हरभजन सिंह ईटीओ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
दिन-ब-दिन कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। सरकार समय-समय पर कोरोना से बचने के निर्देश देती रही है लेकिन शिक्षकों के प्रति शिक्षा विभाग का रवैया बेहद उदासीन है. इन शब्दों का प्रगतावा हरभजन सिंह ई टी ओ (प्रदेश प्रधान पूर्व कर्मचारी विंग पंजाब ,आम आदमी पार्टी ) ने किया । उन्होंने कहा कि इस तथ्य के बावजूद कि बच्चों की शिक्षा में छुट्टियां हैं, 50%कर्मचारियों की उपस्थिति की आवश्यकता केवल 10 से अधिक शिक्षकों वाले स्कूलों पर लगाई गई है, जिसके कारण प्राथमिक और मध्य विद्यालयों के लगभग सभी शिक्षकों को स्कूल जाना पड़ता है। नतीजतन, जहां 12 शिक्षक हैं, वहां केवल 6 शिक्षक मौजूद रहेंगे और जहां 10 शिक्षक हैं, वहां केवल 10 ही मौजूद रहेंगे. यह फरमान तर्कहीन और हास्यास्पद है।
शिक्षा विभाग द्वारा कोरोना प्रभावित शिक्षकों को एकान्त अवकाश के स्थान पर चिकित्सा या अन्य कोई अवकाश देने का निर्णय शिक्षकों के लिए सदमा है।उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान शिक्षकों के साथ भेदभाव को रोका जाना चाहिए. सभी विद्यालयों में 50 प्रतिशत स्टाफ उपस्थिति अनिवार्य कर कोरोना प्रभावित शिक्षकों को अध्यापन व्यवसाय को कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए एकान्त अवकाश दिया जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।