पुण्यदायी है, अक्षय तृतीया घर पर रहकर सबके अक्षय सुख की कामना करें-डॉ.आशा शर्मा
May 14th, 2021 | Post by :- | 233 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

दीन दुखियों ,शोषितों व पीड़ितों की सदैव रक्षा करने वाले भगवान परशुराम के आदर्शों से शिक्षा लें : डॉ.आशा शर्मा

वैश्य बी.एड. कॉलेज की वाई.आर.सी. व एन.एस.एस. वॉलिंटियर्स ने स्लोगन व पोस्टर बना कर अक्षय तृतीया व परशुराम जयंती मनाई। करिश्मा सिंह कोहली, नूतन,गरिमा,आरती,अंकिता, निशा, दीपा अधारिका व पूजा ने ऑनलाइन माध्यम से सभी प्राणियों के मन से अन्याय, अधर्म और पाप कर्मों विनाश करने तथा सभी के लिए इस कोरोना काल में अक्षय शांति के लिए भगवान विष्णु भगवान के अवतार परशुराम जी से प्रार्थना की। महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ.आशा शर्मा ने सभी को अक्षय तृतीया और परशुराम जयंती की बधाई देते हुए कहा कि हर वर्ष वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि यानी अक्षय तृतीया को भगवान परशुराम जी की जयंती मनाई जाती है। इन्हें भगवान विष्णु का छठा अवतार बताया जाता है।हनुमानजी की ही तरह इन्हें भी चिरंजीव होने का आशीर्वाद प्राप्त है। भगवान परशुराम जी ऋषि जमदग्नि और माता रेणुका के पुत्र हैं।भगवान शिव ने इनकी घोर तपस्या से प्रसन्न होकर इन्हें फरसा दिया था इसी वजह से इन्हें परशुराम के नाम से जाना जाता है। महाविद्यालय की एनएसएस व वाईआरसी प्रभारी दिव्या बंसल ने कहा कि अक्षय तृतीया के दिन जन्म लेने के कारण ही इनकी शक्ति भी अक्षय थी।इनकी पूजा करने से व्यक्ति का डर समाप्त हो जाता है।

वाईआरसी प्रभारी श्रीमती सुनीता रानी ने कहा कि भगवान परशुराम जी का नाम लेने मात्र से हमारे अंदर साहस व आत्मविश्वास में वृद्धि होती है। आउटरीच प्रभारी सुश्री प्रीत कमल ने कहा कि आज देश को भगवान परशुराम के आदर्शों पर चलने की आवश्यकता है गौरतलब है कि 8 मई विश्व रेडक्रॉस दिवस से ऑनलाइन योगा क्लासेज के माध्यम से चलाए जा रहे इम्यूनिटी बूस्टर प्रोग्राम का बहादुरगढ़ शहर के गांव के साथ-साथ सोनीपत , फरीदाबाद व कुरुक्षेत्र इत्यादि शहरों से सैकड़ों लोग जुड़कर लाभ उठा पा रहे हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन वाईआरसी, एनएसएस व आउटरीच सेल द्वारा किया जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।