वर्चुअल वेबिनार के माध्यम से किया सकारत्मक ऊर्जा का संचार…
May 13th, 2021 | Post by :- | 188 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

शहर के वैश्य आर्य कन्या महाविद्यालय इस वैश्विक महामारी कोविड 19 की दूसरी लहर के दौर में  निरन्तर  अपनी छात्राओं का मनोबल बढ़ाने के अथक प्रयासों की श्रृंखला में दिनांक 11 मई 2021 को  छात्राओं ने वर्चुअल  वेबिनार जिसका विषय  *पोजिटिवीटी अनलीमीटिड़* रहा, में अपनी भागीदारी दी । सी0आर0टी0 (कोविड़ रिस्पांस टीम) दिल्ली की ओर से आयोजित इस वेबिनार में पूज्य सद्गुरु जग्गी वसुदेव जी व पूज्य जैन मुनि श्री प्रमाण सागर जी मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद रहे। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ राजवंती शर्मा जी ने सेमिनार से पहले छात्राओं को ओनलाईन संदेश देते हुए कहा कि मनोबल ऊंचा रखकर हम किसी भी बिमारी को हरा सकते है और फिर कोविड़ 19 महामारी तो अल्पकालिक बिमारी है ।  इस दौर में अपना धीरज न खोते हुए हम सबका यह परम कर्तव्य बन जाता है कि हम सभी अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए अपनी दान धर्म वाली संस्कृति की परम्परा को आगे बढ़ाते हुए मानव जन की हर सम्भव सहायता करें।
मुख्य वक्ता श्री जग्गी वसुदेव जी व श्री प्रमाण सागर जी ने भी सेमिनार में उपस्थित सभी जन को संदेश दिया है अब समय आ चुका है कि हम पाश्चात्य संस्कृति को छोडक़र अपनी गौरवपूर्ण संस्कृति का अनुकरण कर अपने दिमाग व शरीर को स्वस्थ रखे तथा पूरे विश्व के सामने एक जीवंत उदहारण पेश करें। जीवन को जीवंतता से जिए व स्वस्थ -ओहम व शुद्ध ओहम का जाप करें। सेमिनार के दौरान छात्राओं ने मुख्य वक्ताओं  से अपनी दिनचर्या व खान पान के विषय में अनेक प्रश्नों के हल पाए।  वर्चुअल वार्तालाप के दौरान छात्राओं ने अपने आप को प्रसन्न रखने के अनेक तरीकों को सांझा किया। कार्यक्रम प्रभारी डॉ नेहा ढुल ने बताया कि इस वर्चुअल कक्षा में लगभग 60 छात्राओं ने भाग लिया तथा छात्राओं ने अपने  अनुभवों को सांझा करते हुए कहा है कि वास्तव में जीना तो स्वस्थ तन व मन से जीना है और ऊंचे मनोबल क साथ जीकर ही हम इस महामारी से अपने पूरे राष्ट्र को उभार सकेंगे। छात्राओं ने सेमिनार का आनन्द उठाया, ज्ञान प्राप्त किया तथा मन को मजबूत बनाने का निर्णय लिया और *जीतेंगे हम जीतेगा हिंद* का नारा दिया ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।