नेताओ को राजनीति रैलियों को बंद करके ऑनलाइन प्रचार करना चाहिए : कांग्रेस नेता रवि खत्री
April 19th, 2021 | Post by :- | 96 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

कोरोना महामारी को देखते हुए राहुल गाँधी की तरह मोदी, शाह भी अपनी राजनीतिक रैलियां रद्द करे : पूर्व चेयरमैन रवि खत्री

चुनाव आयोग को सख्त होकर रैलियों को बंद करने के आदेश देना चाहिए : रवि खत्री

कोरोना के दिन-प्रतिदिन बढ़ते मामले चिंता का विषय बनते जा रहे हैं, ऐसे में कोरोना को देखते हुए हरियाणा समेत अन्य राज्यों में नाईट कर्फ्यू लगाया जा रहा है। लेकिन बंगाल व अन्य चुनावी राज्यों में भाजपा लाखों की भीड़ करके रैलियां कर रही है। वहाँ पर कोरोना नहीं है क्या? यह बात पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व चेयरमैन रवि खत्री ने कहीं। उन्होंने कहा कि कोरोना के बिगड़ते हालात देखते हुए राहुल गांधी जी ने बंगाल में अभी सभी चुनावी रैलियां रद्द कर दी हैं। रवि खत्री ने कांग्रेस नेता राहुल गाँधी की पहल सराहना की। उन्होंने कहा कि लोग कोरोना महामारी से जूझ रहे है ऐसे में नेताओ को अपनी राजनीति रैलियों को बंद करके ऑनलाइन प्रचार करना चाहिए। लोगो की जिंदगी के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। नियम पूरे देश में सभी पर लागू होने चाहिए। कांग्रेस नेता रवि खत्री ने कहा कि मोदी जी, शाह जी को भी कोरोना प्रकोप को देखते हुए अपनी रैलियों को रद्द कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मोदी, शाह और ममता की अब तक 80 रैलिया हो चुकी है। जिसमे से मोदी की 21 रैली, शाह की 22 रैली, ममता बनर्जी की 37 रैलियां हो चुकी है। जबकि राहुल गांधी जी ने 1 बार ही बंगाल में चुनाव प्रचार किया है। कांग्रेस नेता रवि खत्री ने कहा कि चुनाव आयोग को सख्त होना होगा जिससे लोगो की रैलियों में भीड़ न बढ़े और सभी रैलियों को रद्द करने के आदेश देने चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी को कोरोना जंग से लड़ने के लिए मास्क, सेनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए। इस अवसर पर जोगेंद्र उर्फ बबलू, विजय शर्मा, अरुण गहलावत, नीरज राठी, राजेश पहलवान, अमित छिल्लर, संजय दहिया, सतीश कुमार, जगदीश छिकारा आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।